रुद्रपुर: मां ने पकड़े तड़पती बेटी के पैर...गला दबाता रहा हैवान पिता...20 मिनट किया इंतजार और...

रुद्रपुर: मां ने पकड़े तड़पती बेटी के पैर...गला दबाता रहा हैवान पिता...20 मिनट किया इंतजार और...

रुद्रपुर, अमृत विचार। पहाड़गंज की नाबालिग लड़की हत्याकांड से जब पुलिस ने पर्दा उठाया और हत्यारे माता-पिता की खौफनाक रात की कहानी सुनी। तो पुलिस भी हैरान रह गई। पूछताछ में हत्यारे माता-पिता ने बताया कि जब बेटी को प्रेमी से मिलकर वापस लौटते देखा, तो पहले पिता ने उसकी बेरहमी से पिटाई करनी शुरू कर दी और बेटी गिडगिडाते हुए जान की भीख मांगने लगी बावजूद इसके पति ने बेटी का गला दबाना शुरू कर दिया और जब बेटी तड़पने लगी। तो उसने बेटी के पैरों को दबाकर सांस थम ने तक इंतजार किया। 

पुलिस के अनुसार जब हत्यारे माता-पिता से पूछताछ की तो बताया कि 23 फरवरी की रात दस बजे जब परिवार के लोग खाना खाकर सो गए और सुबह चार बजे देखा, तो बेटी बिस्तर पर नहीं थी। जब खोजबीन की गई, तो पाया कि नाबालिग घर की छत से नीचे उतर कर आ रही है और छत कूदकर एक युवक भागता हुआ दिखाई दिया।

इसी को लेकर पति शफी अहमद ने बेटी को पीटना शुरू कर दिया और प्रेमी से मिलने की आशंका के चलते पिता ने उसके दुपट्टे से गला दबाना शुरू किया तो नाबालिग गिड़गिड़ाते हुए जान की भीख मांग रही थी और बार बार दोबारा गलती नहीं करने की दुहाई दे रही थी। बताया कि गला दबाने के दौरान जब पैर झटपटाने लगे। तो उसने बेटी के पैर दबा लिए और 20 मिनट तक सांस थमने का इंतजार किया और जब नाबालिग ने दम तोड़ दिया, तो मियां बीवी ने लाश को ठिकाने लगाने और रिश्तेदारों को गुमराह करने के लिए आत्महत्या की कहानी बनाकर यूपी शव को ठिकाने लगाने की योजना बनाई। 

रिश्तेदारों को बताई आत्मदाह की कहानी
नाबालिग बेटी की गला दबाकर हत्या करने के बाद 24 फरवरी की सुबह घर में चीख पुकार की आवाज आने लगी, तो रिश्तेदार सहित पड़ोसी घटनास्थल की ओर दौड़ पड़े। जहां हत्या रे माता-पिता ने नाबालिग द्वारा आत्महत्या किए जाने की मनगढ़त कहानी बताई और कुछ लोगों को बीमारी से मौत होने का कारण बताया। यहीं कारण है कि रिश्तेदार की गाड़ी में नाबालिग को डालकर यूपी के कब्रिस्तान ले जाया गया। जिसकी पुष्टि पुलिस पूछताछ में भी हुई है। 

दो भाइयों की इकलौती बहन थी 
पहाड़गंज में हत्यारे माता पिता की हैवानियत की भेंट चढ़ी नाबालिग दो भाइयों की इकलौती बहन थी। बताया जा रहा कि मृतक का बड़ा भाई केरल में काम करता है और उससे छोटा भाई पढ़ाई करता है। अपनी इकलौती बहन की हत्या की भनक दोनों भाइयों तक को नहीं हुई और माता-पिता द्वारा ही अपनी बेटी की हत्या किए जाने के खुलासे के बाद हर कोई हैरान है।