बांदा :  नीट के नतीजे घोषित होने पर छात्रों ने सीबीआइ जांच की मांग

बांदा :  नीट के नतीजे घोषित होने पर छात्रों ने सीबीआइ जांच की मांग

बांदा,अमृत विचार। नीट के नतीजे घोषित होने के बाद से देशभर में विद्यार्थी नेशनल टेस्ट एजेंसी (एनटीए) के खिलाफ हल्ला बोल रहे हैं। बुधवार को समाजवादी छात्र सभा के नेतृत्व में बड़ी संख्या में विद्यार्थी तपती धूप में सड़कों पर उतरे और प्रदर्शन किया और राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन में परीक्षा रद्द कर सीबीआई जांच कराने की मांग की।

देश में डॉक्टरी की पढ़ाई के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षा 2024 का आयोजन व परिणाम से राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी(एनटीए) की अक्षमता तथा भ्रष्टाचार सामने आया है । एनटीए नीट यूजी परीक्षा की प्रक्रिया तथा परिणाम की रद्द कर सीबीआइ जांच के माध्यम से दोषियों पर कार्यवाही की मांग की। आरोप लगाया कि लोकसभा परिणाम के दिन नीट-यूजी के परिणाम घोषित कर एनटीए क्या छिपाना चाहती थी।

नीट के परीक्षा परिणाम में एक ही सेंटर से कई टॉपर्स होने से इस वर्ष के परीक्षा परिणाम पर कई तरह से संदेह उत्पन्न हो रहा है। मेडिकल संस्थानों में प्रवेश के लिए आयोजित की जाने वाली इस परीक्षा की पारदर्शिता पर विद्यार्थियों के बीच संदेह पैदा हुआ है। नीट-यूजी की परीक्षा के दिन भी देश के अलग-अलग स्थानों पर व्यवस्था की गड़बड़ियां भी सामने आई थीं। समाजवादी छात्रसभा के जिलाध्यक्ष यशवंत सिंह यादव के नेतृत्व में राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को सौंपकर  मांग की है कि पुनः परीक्षा कराई जाए जिससे छात्रों का हित हो सके। इस मौके पर  अचिन खरे ,साजिद अली डॉलर, साकिब हाशमी,दिव्यांशू,अंकित कुमार,कपिल सिंह,कुणाल,पंकज यादव आदि मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें- लखीमपुर-खीरी: ठोकर मारते हुए अधिवक्ता को बीस मीटर घसीट ले गया ई-रिक्शा, घटना सीसीटीवी में हुई कैद

ताजा समाचार