Agniveer Bharti: डोगरा में शुरू के दो दिन दौड़ेंगे 13 जिलों के अभ्यर्थी, ऐसे होगी भर्ती प्रक्रिया

अग्निवीर की भर्ती रैली 24 से 30 जून तक, एक व दो जुलाई को मेडिकल परीक्षण

Agniveer Bharti: डोगरा में शुरू के दो दिन दौड़ेंगे 13 जिलों के अभ्यर्थी, ऐसे होगी भर्ती प्रक्रिया

अयोध्या, अमृत विचार। अयोध्या में अग्निवीर भर्ती रैली 24 से 30 जून तक चलेगी। पहले दो दिन यानि 24 व 25 जून को 13-13 जिलों के अभ्यर्थियों को बुलाया गया है। भारत सरकार की रक्षा शाखा से जारी पत्र के अनुसार भारतीय सेना भर्ती रैली के लिए डोगरा रेजिमेंटर सेंटर ग्राउंड को तैयार किया जा रहा है। एक और दो जुलाई का दिन मेडिकल परीक्षण के लिए आरक्षित किया गया है।

24 जून को अग्निवीर ट्रेड्समैन (10वीं पास), अग्निवीर ट्रेड्समैन (8वीं पास) की श्रेणी और 25 जून को अग्निवीर कार्यालय सहायक/एसकेटी अग्निवीर तकनीकी श्रेणी के लिए एआरओ अमेठी के तहत सभी 13 जिलों के लिए यानी अंबेडकर नगर, अमेठी, अयोध्या, बस्ती, कौशांबी, कुशी नगर, महाराजगंज, प्रयागराज, रायबरेली, प्रतापगढ़, सुल्तानपुर, संत कबीर नगर और सिद्धार्थ नगर के लिए भर्ती रैली आयोजित की जाएगी। 

जनरल ड्यूटी की श्रेणी के लिए 26 से भर्ती रैली

26 को अंबेडकर नगर, बस्ती और महराजगंज के लिए,  27 को कुशीनगर, कौशांबी, संत कबीर नगर और सिद्धार्थ नगर के लिए, 28 को सुल्तानपुर और प्रयागराज के लिए, 29 को प्रतापगढ़ और अमेठी के लिए, 30 को अयोध्या और रायबरेली के लिए अग्निवीर जनरल ड्यूटी के लिए भर्ती रैली होगी। एक और दो जुलाई को मेडिकल परीक्षण के लिए दिन आरक्षित होगा।

दलालों का शिकार न बनें उम्मीदवार 

खराब मौसम और चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों के बावजूद, रैली अटूट क्षमताओं वाले उम्मीदवारों को आकर्षित करती है। यह इस बात पर जोर देता है कि अपनी अद्वितीय शक्तियों के साथ, आप सभी बाधाओं के खिलाफ विजय प्राप्त करेंगे और सम्मानित भारतीय सेना में शामिल होने के लिए अपनी योग्यता साबित करेंगे। रैली के आधार पर आपकी योग्यताएं निर्णायक कारक होंगी। इसलिए उम्मीदवारों को दृढ़ता से सलाह दी जाती है कि वे किसी भी दलाल के शिकार न बनें। सभी प्रतिभागी अनिवार्य दस्तावेजों के साथ रैली में पहुंचे। 

ऐसे होगी भर्ती प्रक्रिया 

रैली में फिजिकल फिटनेस टेस्ट (पीएफटी) होगा, जिसमें 1.6 किमी दौड़, जिग जैग बैलेंस, 9 फीट डिच और बीम शामिल होगा। जो लोग पीएफटी पास कर लेंगे वे शारीरिक माप परीक्षण (पीएमटी) के लिए आगे बढ़ेंगे, जिसमें उम्मीदवारों की ऊंचाई, वजन और छाती के विस्तार को मापा जाएगा। पीएमटी उत्तीर्ण करने वाले सभी लोग दस्तावेजीकरण के लिए आगे बढ़ेंगे, जिन उम्मीदवारों के दस्तावेज सही पाए जाएंगे, वे मेडिकल जांच के लिए आगे बढ़ेंगे।

यह भी पढ़ें पढ़ें:-लखनऊ में पारा पहुंचा 46 डिग्री के पार, भीषण गर्मी से जनजीवन बेहाल, जानें कब मिलेगी राहत