वाराणसी: रविदास घाट पर पहला फ्लोटिंग सीएनजी स्टेशन शुरू, नाविकों को मिलेगा लाभ

वाराणसी: रविदास घाट पर पहला फ्लोटिंग सीएनजी स्टेशन शुरू, नाविकों को मिलेगा लाभ

वाराणसी। वाहनों में सीएनजी का कनेक्शन लेने वालों के लिए एक खुशखबरी है। काशी को एक नए सीएनजी स्टेशन की सौगात मिल चुकी है। गंगा में चल रही नाव अब यहां सीएनजी ले सकेंगी। नमो घाट पर सीएनजी स्टेशन के सफल संचालन के बाद, गेल द्वारा को रविदास घाट पर पहले फ्लोटिंग सीएनजी स्टेशन का उद्घाटन किया गया। इसका उद्घाटन पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने किया। देव दीपावली से पहले पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र में सरकार ने नाविकों को ये बड़ी सौगात दी है। 

40 से 50 नावों को उपलब्ध होगा सीएनजी 

गेल के मार्केटिंग मैनेजर प्रवीण गौतम के अनुसार यह मोबाइल रिफ्यूलिंग सीएनजी है। इससे नाविकों को गैस भराने में सुविधा होगी। उन्होंने बताया कि फ्लोटिंग सीएनजी मोबाइल रिफ्यूलिंग यूनिट (एमआरयू) एक पर्यावरण-अनुकूल नदी परिवहन सेवा बनाने की दिशा में एक कदम है जो पर्यटकों के लिए सुविधाजनक है, वायु और जल प्रदूषण को कम करती है।

इसको लगने से स्थानीय नाविकों को काफी लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि रविदास घाट पर बना सीएनजी स्टेशन जिले का दूसरा स्टेशन है। नमो घाट पर पहले से ही एक सीएनजी स्टेशन फ्लोटिंग सीएनजी स्टेशन है। नाविकों को अब गैस भरने के लिए दूर नहीं जाना होगा। इससे प्रतिदिन 40 से 50 नावों को सीएनजी उपलब्ध कराई जा सकेगी। 

वाराणसी जनपद में विभिन्न प्रमुख स्थानों पर खुलेगा सीएनजी स्टेशन 

2024 में गेल चार और सीएनजी स्टेशन खोलने की तैयारी में है। इसके लिए जगह की तलाश की जा रही है। सीएनजी स्टेशनों की संख्या 27 से बढ़कर 31 हो जाएगी। सीएनजी स्टेशनों पर वाहनों का दबाव कम करने के लिए कंपनी ने ऐसा निर्णय लिया है। पब्लिक की सुविधा के लिए गेल ने चितईपुर, डीएलडब्ल्यू, नदेसर, सिगरा, भेलूपुर, पिण्डरा, करखियांव, राजातालाब, खिड़किया घाट, राजातालाब समेत टोटल 24 स्थानों पर सीएनजी का स्टेशन खोल रखा है।

सीएनजी के उपयोग से प्रदूषण होगा कम

केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस व शहरी कार्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी का कहना है कि सीएनजी स्टेशन को बढ़ाने का मुख्य उद्देश्य है कि गंगा में प्रदूषण का स्तर कम किया जा सके। कई बोट को सीएनजी से जोड़ दिया गया है। इसके अलावा सैकड़ों बोट को सीएनजी से जोड़ना है। यही वजह है कि नमो घाट के बाद रविदास घाट पर सीएनजी स्टेशन बनाया गया है।

ये भी पढ़ें -लखनऊ समेत पूरी यूपी में लाउडस्पीकर पर ताबड़तोड़ एक्शन!, धार्मिक स्थलों से उतरवाए गए ध्वनि-विस्तारक यंत्र

Online Jobs Apply