पीलीभीत: ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी... जिला स्तर पर 106 परियोजनाओं की होगी शुरुआत

पीलीभीत: ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी...  जिला स्तर पर 106 परियोजनाओं की होगी शुरुआत

पीलीभीत, अमृत विचार: तराई के इस जिले के औद्योगिक विकास को 1200 करोड़ की परियोजनाएं धरातल पर उतरने को तैयार है। लखनऊ में 19 फरवरी को होने वाली ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी को लेकर जिला स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी गई है। 19 फरवरी को जनपद स्तर पर होने वाले समारोह में 106 परियोजनाओं की शुरुआत की जाएगी।

प्रदेश के औद्योगिक विकास को धरातल पर उतारने के लिए लखनऊ में होने वाली ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में का आयोजन किया जा रहा है। इसमें 10 करोड़ से अधिक निवेश करने वाले निवेशकों को आमंत्रित किया गया है, जबकि 10 करोड़ से कम निवेश करने वाली परियोजनाओं का जनपद स्तर पर होने वाले कार्यक्रम में शुभारंभ किया जाना है।

डिप्टी कमिश्नर इंडस्ट्रीज के मुताबिक लखनऊ में होने वाले ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में जनपद के 10 निवेशक भाग लेंगे। वहीं जनपद स्तर पर होने वाले समारोह में 106 परियोजनाओं का शुभारंभ किया जाएगा। यह समारोह शहर के एक होटल में आयोजित किया जाना है। विभाग द्वारा समारोह की तैयारियां शुरू कर दी गई है। जनपद स्तर पर होने वाले समारोह को लेकर निवेशकों समेत उद्यमियों को आमत्रंण पत्र भेजा जा रहा है।

दस माह में 162 से बढ़कर 257 हुए एमओयू
जनपद में औद्योगिक विकास को बढ़ावा देने के लिए गत वर्ष फरवरी में इंवेर्स्टर्स समिट का आयोजन किया गया था। उस दौरान छह हजार 700 करोड़ के निवेश के साथ 162 निवेशकों द्वारा एमओयू साइन किए गए थे। औद्योगिक ढांचे की मजबूती के लिए जिले के उद्यमियों से लगातार संपर्क कर उन्हें निवेश के लिए प्रेरित किया गया।

जिला स्तर पर हर माह होने वाले उद्योग बंधुओं की बैठक में भी उद्यमियों को निवेश के लिए प्रेरित किया गया। उद्यमियों के प्रोत्साहन को एमओयू इंप्लीमेंटेशन यूनिट का भी गठन किया गया। इससे निवेशकों का झुकाव और बढ़ा। इसका नतीजा यह रहा कि 10 माह में आठ हजार 800 करोड़ के निवेश के साथ निवेशकों की संख्या 162 से बढ़कर 257 हो गई।

इधर अब जनपद में 1200 करोड़ की परियोजनाएं धरातल पर उतरने को तैयार है। विभाग के मुताबिक इस निवेश से एक-दो साल में करीब 106 औद्योगिक इकाईयां स्थापित की जाएगी। इसमें 12 औद्योगिक इकाईयों ने प्रोडक्शन भी शुरू कर दिया है। यह इकाईयां, ललौरीखेड़ा, कलीनगर, पूरनपुर आदि जगहों पर स्थापित की गई हैं।

एमएसएमई के सर्वाधिक 37 एमओयू
जनपद के औद्योगिक विकास के लिए जो 106 एमओयू साइन किए गए हैं। यह एमओयू वन विभाग, अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत, गन्ना विभाग समेत 12 विभागों ने जुड़े हैं। इसमें से अकेले 37 एमओयू सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम विभाग (एमएसएमई) से जुड़े हैं। खास बात यह है कि जिन 12 औद्योगिक इकाईयां द्वारा प्रोडक्शन शुरू करने की बात कही जा रही है, यह सब भी एमएसएमई से जुड़ी है।

जनपद के औद्योगिक विकास को लेकर उद्यमियों से लगातार संपर्क किया जा रहा है। आने वाले समय में इसके सकारात्मक परिणाम भी देखने को मिलेंगे। लखनऊ में होने वाली ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में जनपद के 10 निवेशक हिस्सा लेंगे। उसी दिन जनपद स्तर पर होने वाले कार्यक्रम में 106 परियोजनाओं का शुभारंभ किया जाएगा। जिसकी तैयारियां शुरू की जा चुकी है--- आत्मदेव शर्मा, डिप्टी कमिश्नर, उद्योग।

यह भी पढ़ें- Pilibhit News: महापंचायत में किया ऐलान- जलभराव से मुक्ति दिलाए रेलवे वरना मिट्टी से पाट देंगे अंडरपास

ताजा समाचार

मुरादाबाद : सपा सांसद डॉ. एसटी हसन के नर्सिंग होम में घुसी पुलिस, लगाए आरोप...वीडियो वायरल
कासगंज में बड़े पैमाने पर चल रहा खनन का अवैध कारोबार, ट्रैक्टर-ट्रॉली जब्त
बहराइच: लोकतंत्र के चौथे स्तंभ को स्कूल में प्रवेश करने से रोका, प्रधानाचार्य ने जारी किया तुगलकी फरमान
'OTT मंचों पर प्रतिबंध लगाने के लिए सरकार के पास जाएं', याचिकाकर्ता से सुप्रीम कोर्ट ने कहा
मुरादाबाद: वोटिंग में बुजुर्गों और दिव्यांगों को न हो दिक्कत, पोलिंग बथों पर व्हीलचेयर की व्यवस्था
यूएई में रिकॉर्ड तोड़ बारिश, भारतीय दूतावास ने भारतीय नागरिकों को गैर-जरूरी यात्रा से बचने की दी सलाह