गोंडा: धरने पर बैठे छात्र पंचायत संयोजक की पुलिस से तीखी नोकझोंक, दरोगा बोला- दो मिनट में उठा लिए जाओगे

हत्यारोपियों को पकड़ने में विफल पुलिस ने रात 10 बजे दिखाई दादागिरी, अंकित तिवारी के हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को परिजनों संग धरने पर बैठे हैं छात्र पंचायत कार्यकर्ता  

गोंडा: धरने पर बैठे छात्र पंचायत संयोजक की पुलिस से तीखी नोकझोंक, दरोगा बोला- दो मिनट में उठा लिए जाओगे

गोंडा, अमृत विचार। नारायणा हॉस्पिटल में कार्यरत नर्सिंग सहायक अंकित तिवारी के हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर परिजनों संग धरने पर बैठे छात्र पंचायत के कार्यकर्ताओं की सोमवार की रात पुलिस से तीखी नोकझोंक हुई। आरोपियों की गिरफ्तारी में विफल रही पुलिस रात 10 बजे दादागिरी पर उतर आई और शांतिपूर्ण तरीके से धरने पर बैठे परिजनों व कार्यकर्ताओं को जबरन धरने से उठाने का प्रयास किया।

एक दरोगा ने धमकी दी कि दो मिनट में उठा लिए जाओगे। इस पर छात्र पंचायत संयोजक शिवम पांडेय से दरोगा की तीखी नोकझोंक हो गयी। हालांकि बाद में पुलिस है रंग वापस लौट गयी। छात्र पंचायत संयोजक समेत परिवार के लोग दूसरे दिन मंगलवार को भी धरने पर डटे हैं। मोतीगंज थाना क्षेत्र के अचलपुर गांव के रहने वाले 23 वर्षीय अंकित तिवारी की 25 जनवरी को हत्या कर दी गयी थी और उसका शव रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया गया था।

मृतक‌ अंकित नगर कोतवाली क्षेत्र के सर्कुलर रोड स्थित नारायणा हॉस्पिटल में नर्सिंग सहायक के तौर पर काम कर रहा था‌। इस मामले में मृतक के परिजनों ने हास्पिटल संचालक डा दीपक सिंह समेत तीन लोगों के खिलाफ हत्या व साक्ष्य छिपाने की रिपोर्ट दर्ज करायी है। घटना के बाद से ही आरोपी फरार हैं।

वारदात को 18 दिन बीत चुके हैं लेकिन पुलिस अब तक‌ हत्यारोपियों की गिरफ्तारी नहीं कर सकी है।‌ इससे परिजनों में आक्रोश बढ़ रहा है। हत्यारोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर छात्र पंचायत मृतक के परिवार साथ सोमवार से धरने पर बैठे हैं। आरोपियों की गिरफ्तारी करने में विफल पुलिस की इस‌ धरने से जमकर किरकिरी हो रही है। सोशल मीडिया पर पुलिस की कार्यशैली सवालों के घेरे में हैं। जस्टिस फॉर अंकित हैसटैग के साथ न्याय मांगा जा रहा है। 


इस धरने से पुलिस असमंजस‌ में दिख रही है। धरने से तिलमिलाई पुलिस ने सोमवार को पहले ही दिन धरना दे रहे लोगों को धरनास्थल से हटाने की कोशिश की। रात 10 बजे सीओ सिटी विनय कुमार  सिंह पुलिस फोर्स के साथ धरनास्थल पर‌ पहुंच‌‌ गए।

सीओ के साथ गए एक दरोगा ने धरने पर बैठे छात्र पंचायत संयोजक शिवम पांडेय को धमकी देते हुए कहा कि अगर धरना खत्म नहीं किया तो दो मिनट में उठा लिए जाओगे। इस पर शिवम की दरोगा से तीखी नोकझोंक हो गयी। शिवम ने साफ कहा कि जब तक‌ आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होती धरना चलता रहेगा। हालांकि इसके बाद बैकफुट पर आए पुलिसकर्मी बैरंग वापस लौट गए। मंगलवार को दूसरे दिन भी परिजन व छात्र पंचायत के कार्यकर्ता धरने पर डटे हैं‌।

यह भी पढ़ें;-रास चुनाव: सपा ने बनाया रामजीलाल सुमन, जया बच्चन और आलोक रंजन को उम्मीदवार

ताजा समाचार

बदायूं पहुंचे केशव प्रसाद मौर्य, बोले- सपा समाप्तवादी, बसपा बिल्कुल समाप्तवादी, सपाइयों का नारा...खाली प्लाट हमारा 
बरेली: श्री दरबार साहिब के पूर्व हेड ग्रन्थी ज्ञानी जगतार सिंह जी ने बताया खालसा साजना दिवस का महत्व
बलरामपुर: सिरिया नाले में नहाने गए दो बच्चों को मौत, सदमे में हैं परिजन 
Kannauj: फतेहपुर जसोदा में शिवमोहन ही रहेंगे प्रभारी प्रधानाचार्य; चार्ज हटने से बिलख-बिलख कर रोए थे छात्र-छात्राएं
सुलतानपुर में अफवाह के बाद हो सकता था बड़ा बवाल, ईद पर मुस्तैद रहा प्रशासन-तोड़फोड़ करने वालों पर की कार्रवाई   
लखीमपुर खीरी: खेत पर काम कर रहे मजदूर पर बाघ का हमला, हालत गंभीर