सेहत के लिए असरदार है कम चीनी, जानें स्वास्थ्य से जुड़ी ये जानकारी

सेहत के लिए असरदार है कम चीनी, जानें स्वास्थ्य से जुड़ी ये जानकारी

अधिकतर देखा जाय तो लोग मीठे के काफी शौक़ीन होते हैं। चाहे कोई भी शुभ अवसर हो लोग मीठा खाना नहीं भूलते हैं। ऐसे में वो भूल जाते हैं कि यही चीनी उनके स्वास्थ्य के लिए हानिकारक साबित हो सकती हैं। मीठा खाने से पहले ज़रा रुके, क्यूंकि आपके लिए ये जानना ज़रूरी है कि आखिर चीनी की अधिक मात्रा हमारे स्वास्थ्य के लिए आखिर क्यों हानिकारक है।

चीनी चाहे किसी भी क्वालिटी की हो चाहे वो रिफाइंड हो या प्रोसेस्ड हो वो हर लिहाज़ से हमारे लिए हानिकारक ही साबित होती है और इसका हमारी त्वचा पर भी बुरा असर पड़ता है। स्किन स्पेशलिस्ट की माने तो अधिक शुगर की मात्रा आपकी त्वचा को नुकसान पहुचाने पाने में भी काफी हद तक ज़िम्मेदार है। 

सरल भाषा में बात करें तो अधिक मात्रा में रिफाइंड शुगर लेने से हरी त्वचा समय से पहले एजिंग का शिकार हो सकती है। ऐसे में हमें सभी के लिए ज़रूरी है कि हम अपने खानपान को संतुलित रखें तभी हम एजिंग का शिकार होने से बच सकते हैं। उच्च ग्लाइसेमिक इंडेक्स वाले फ़ूड भी इसमें अपनी विशेष भागीदारी निभाते हैं। जैसे अगर आप मीठे स्नैक्स और रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट का सेवन करते हैं तो रक्त शर्करा के स्तर में तेजी से बढ़ोतरी हो सकती है।

 हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो स्किन की हेल्थ के लिए अधिक शर्करा, शर्करा युक्त पेय, प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ से बचना चाहिए। इसकी जगह आप चीनी की कमी को मौसमी फल खाकर दूर कर सकते हैं अधिक से अधिक सब्जियां, साबुत अनाज और प्रोटीन युक्त पदार्थों को अपने भोजन में शामिल करें। अगर कहा जाए तो खूब पानी को पीना, त्वचा की देखभाल, भरपूर नींद लेना, सूरज की यूवी किरणों से स्किन को बचाना भी अच्छे स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है।

वहीं सबसे महत्वपूर्ण मोटापे को बढ़ाने में सबसे बड़ी भूमिका भी चीनी का अधिक सेवन है। सोडा, जूस और चाय जिनमें चीनी की मात्रा सबसे अधिक होती है। एक्स्ट्रा शुगर और पैश्चराइज्ड फूड आइटम्स से भरा भोजन डिप्रेशन की संभावना को बढ़ा सकता है और यही हमारे स्वास्थ्य के लिए हार्मफुल है। कुल मिलकार कहा जाए तो हमें ऐसे भोजन का चुनाव करना चाहिए जो संतुलित हो जिसमें सभी विटामिन, मिनरल, पोषक तत्वों की अधिक मात्रा हो तभी हमारा शरीर सही मायनों में स्वस्थ्य रह सकता है

ये भी पढ़ें- महिलाओं को ब्रेस्टफीडिंग न कराना पड़ सकता है भारी, यह ले सकता है ब्रेस्ट कैंसर का रूप

ताजा समाचार

रामपुर : आचार संहिता का उल्लंघन करना पड़ा भारी, बसपा प्रत्याशी समेत तीन पर केस
Kanpur: सीएस क्षेत्र से जुड़े स्टार्टअप भी शहर से होंगे शुरू; भारतीय कंपनी सचिव संस्थान के छात्रों ने IIT में समझीं बारीकियां
बहराइच: 46 लाख के चेक के लिए वर्षों से भटक रहे थे मृतक के माता-पिता, डीएम ने एक घंटे में दिलाया Cheque
Etawah: कोयला लदी ट्रेन की दो बोगियों से उठा आग का धुआं...कानपुर जा रही थी, फायर कर्मियों ने पाया काबू
गोंडा: बड़ी बहन ने दिया कुंवर विक्रम की अर्थी को कंधा, चाचा ने दी मुखाग्नि
बाराबंकी: प्रदेश महामंत्री ने बताया भाजपा का विजन, संकल्प पत्र को कहा-विकसित भारत का ब्लू प्रिंट