फरार प्रवीन को एसटीएफ ने महाराष्ट्र से गिरफ्तार किया, महिला की हत्या में गया था जेल

फरार प्रवीन को एसटीएफ ने महाराष्ट्र से गिरफ्तार किया, महिला की हत्या में गया था जेल

लखनऊ। एसटीएफ ने न्यायिक अभिरक्षा से फरार 50 हजार रुपये के इनामी एक शातिर अपराधी को पनवेल, महाराष्ट्र से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अपराधी का नाम प्रवीन पाल उर्फ प्रदीप पाल है जो अयोध्या का रहने वाला है। एसटीएफ को पिछले कुछ समय से फरार व इनामी अपराधियों के सक्रिय होने की जानकारी मिल रही थी।

एसटीएफ को जनकारी मिली थी कि देवरिया के थाना कोतवाली से दिनांक 02-11-2022 को न्यायिक अभिरक्षा से फरार 50 रूपये का पुरस्कार घोषित अपराधी प्रवीन पाल नवी मुम्बई के पनवेल (महाराष्ट्र) में छिप कर रह रहा है। इस सूचना पर एसटीएफ ने कार्रवाई करते हुए महाराष्ट्र से गिरफ्तार किया है। प्रवीन हत्या के मामले में सजा काट रहा था तभी बीमारी का बहाना बना के यह पुलिस को चकमा देकर फरार हो गया था।   

जमीन के लालच में महिला को उतारा था मौत के घाट

गिरफ्तार युवक ने बताया कि कुशीनगर में पूजा पुत्री कांता प्रसाद अपने दो बच्चों के साथ रहती थी। उसके पति की मृत्यु पहले हो चुकी थी। जमीन के लालच में उसने पूजा की निर्मम हत्या कर दिया था। जिस सम्बन्ध में थाना रामकोला जनपद कुशीनगर एफआईआर दर्ज हुई। जिसके बाद पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर देवरिया जेल भेजा गया था।

जेल से इलाज के लिए देवरिया जिला अस्पताल आया था। सुरक्षा में लगे पुलिस कर्मियों को चकमा देकर न्यायिक अभिरक्षा से फरार हो गया थाफरार होने के बाद मुम्बई भाग गया था और पनवेल नवी मुम्बई (महाराष्ट्र) में छिपकर रह रहा था।

यह भी पढ़ें:-यूपी राज्‍यसभा चुनाव: बागी विधायकों पर भड़के अखिलेश यादव, भाजपा पर लगाया बड़ा आरोप

 

ताजा समाचार

मनमानी: यहां तो 150 कोटेदारों पर भारी पड़ रहा है ठेकेदार 
Kanpur: दिव्यांग व बुजुर्गों को परेशान करेंगे ऊंचे रैंप और सीढ़ियां; चुनाव के लिए बने पोलिंग सेंटरों के सर्वे में मिली कमियां
Kanpur: ट्रक के नीचे फेंकी गई थी नवजात बच्ची...एक माह तक जिंदगी और मौत से जूझती रही, इलाज के दौरान तोड़ा दम
शाहजहांपुर: ससुर की हत्या करने का आरोपी पुलिस की गिरफ्त से दूर, गोली मारने का वीडियो वायरल
हल्द्वानी: LIVE - BJP के स्टार प्रचारक और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहुंचे हल्द्वानी
बहराइच: भाजपा सांसद प्रत्याशी से मुलाकात कर समस्या निस्तारण की मांग कर रहे शिक्षामित्र