NHM: संविदा कर्मियों को मिलेगा स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी का लाभ, डिप्टी सीएम ने कही यह बात

NHM: संविदा कर्मियों को मिलेगा स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी का लाभ, डिप्टी सीएम ने कही यह बात

लखनऊ, अमृत विचार। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन में 1 लाख से अधिक संविदा पर स्वास्थ्य कर्मचारी तैनात है। इन सभी कर्मचारियों को बीमा पॉलिसी का लाभ मिलेगा। यूपी के डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने खुद यह बात कही है। उन्होंने कहा है कि बीमा पॉलिसी करवा रहा हूं इसका लाभ शीघ्र ही संविदा कर्मचारियों को मिलेगा।

इस बात की जानकारी उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संविदा कर्मचारी संघ की तरफ से सोमवार को दी गई है।

दरअसल, उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन संविदा कर्मचारी संघ के प्रदेश महामंत्री आदित्य भारती के नेतृत्व में संगठन प्रतिनिधि मण्डल ने उप मुख्यमंत्री  ब्रजेश पाठक से मुलाकात की।

इस दौरान संगठन की लम्बित  मांगो पर ज्ञापन सौंपा। जिस पर उप मुख्यमंत्री ने बीमा पॉलिसी व स्थानांतरण व्यवस्था को शीघ्र ही लागू कराने की बात कही है। साथ ही यह भी कहा कि बीमा पॉलिसी मैं करवा रहा हूँ, इसका लाभ शीघ्र ही आप सभी को मिलेगा, स्थानांतरण के लिए लोकसभा चुनाव बाद ट्रांसफर सेशन में बात करने के लिए कहा है।

इसके अलावा प्रतिनिधिमंडल ने नियमित कर्मचारियों की भांति समस्त लाभ संविदा कर्मचारियों को भी देने की अपील की है। वहीं  कोविड कर्मचारियों का कार्यकाल मार्च बाद बढ़ाने व समायोजन की बात संगठन की तरफ से रखी गई है। 

इस अवसर पर प्रतिनिधि मण्डल से महामन्त्री आदित्य भारती, प्रदेश कमेटी के सलाहकार करुणा शंकर मिश्रा, डॉ.शकील अहमद, प्रशांत कुमार व अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़े: लखनऊ में 5 हजार महिलाएं करेंगी सुंदरकांड पाठ, बनायेंगी World Record 

ताजा समाचार

बहराइच: भाजपा सांसद प्रत्याशी से मुलाकात कर समस्या निस्तारण की मांग कर रहे शिक्षामित्र
प्रयागराज: हाइटेंशन लाइन की चपेट में आई ट्रैक्टर-ट्राली, तेज लपटों से वाहन में लदा गेंहू खाक    
IPL 2024 : लखनऊ के बल्लेबाज आयुष बडोनी बोले, केएल राहुल-जस्टिन लैंगर की हौसलाअफजाई से प्रेरणा मिली
मेरठ: सड़क पर नमाज पढ़ने पर पुलिस की बड़ी कार्रवाई, 200 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज
रामनगर : प्रियंका गांधी पहुंची रामनगर...बोलीं इस बार वोट डालने से पहले केवल अपने भविष्य के बारे में सोचिए..
Kanpur: जाजमऊ टेनरी क्लस्टर के लिए बने सीईटीपी का नहीं शुरू हो सका संचालन; यह वजह बनी रूकावट का कारण