अल्मोड़ा: शराब की दुकान के विरोध में सड़कों पर उतरी मातृशक्ति 

अल्मोड़ा: शराब की दुकान के विरोध में सड़कों पर उतरी मातृशक्ति 

अल्मोड़ा, अमृत विचार। दन्या के निकट काफलीखान कस्बे में शराब की दुकान खोलने के विरोध में क्षेत्र की महिलाओं का पारा चढ़ गया। शनिवार को क्षेत्र की महिलाएं काफलीखान बाजार में एकत्र हुई और जोरदार नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। बाद में महिलाओं ने सुआखान तक जुलूस निकाला और एसडीएम भनोली को ज्ञापन सौंपकर तत्काल शराब की दुकान को बंद करने की मांग उठाई। 

अल्मोड़ा पिथौरागढ़ हाइवे पर काफलीखान चौराहे के पास शराब की दुकान खुलने से महिलाओं में जबर्दस्त आक्रोश व्याप्त है। शनिवार को क्षेत्र की महिलाएं और बच्चे काफलीखान में एकत्र हुए। इस दौरान उन्होंने शराब नही शिक्षा दो, शराब नहीं शिक्षा चाहिए, उत्तराखंड सरकार शर्म करो जैसे नारों से प्रशासन को चेताने का प्रयास किया।

महिलाओं का गुस्सा यहीं नहीं थमा। इसके बाद महिलाओं ने नारेबाजी करते हुए सुआखान तक जुलूस निकाला और बाद में एसडीएम भनोली को इस संबंध में एक ज्ञापन भी सौंपा। ग्रामीणों ने कहा कि उनके विरोध के बाद भी प्रशासन ने ग्रामीण कस्बे में शराब की दुकान खुलवा दी है।

जिस कारण अब क्षेत्र का माहौल लगातार अशांत होता जा रहा है। ग्रामीणों ने कहा कि वह शराब की दुकान में पूर्व में भी आंदोलन कर चुके हैं। जिसके बाद प्रशासन ने वार्ता कर दुकान बंद कराने का आश्वासन भी दिया था। लेकिन इसके बाद भी आज तक कोई कार्रवाई नहीं हो सकी। महिलाओं ने कहा कि वह प्रशासन की मनमानी को किसी भी हाल में बर्दाश्त नहीं करेंगी। 

प्रदर्शन और जुलूस में राजेंद्र प्रसाद, नवीन लाल, चंदन लाल, गोविंदी देवी, कलावती देवी, चंपा देवी, अमन कुमार, गुड्डी देवी, तारा देवी, राजंती देवी, भगवती देवी समेत अनेक महिलाएं और बच्चे मौजूद रहे। 

ताजा समाचार

हरदोई: कुत्ते को बचाने के चक्कर में अनियंत्रित होकर नाले में गिरी एक्सयूवी कार, बाल-बाल बच कार सवार
Kanpur: नौकरानी व उसके प्रेमी ने डॉक्टर के घर से की थी 15 लाख की चोरी, सीसीटीवी फुटेज व सीडीआर से खुलासा, दोनों आरोपी गिरफ्तार
Kanpur Murder: हत्यारा पिता बोला- बेटा-बहू के तंत्र मंत्र कराने से हुई थी पत्नी की मौत...अब मुझे भी सता रहा था डर
AUS vs AFG : ऑस्ट्रेलिया पर बड़ी जीत के बाद बोले राशिद खान- पिछले दो वर्षों से हमें इस तरह के गौरवशाली पल की कमी खल रही थी
Kanpur: क्रिकेट टेस्ट मैच तो मिला पर ग्रीनपार्क में देख पाएंगे केवल 15 हजार दर्शक...वनडे मैचों पर अभी संकट बरकरार
काशीपुर: सरकारी अस्पताल का पौने तीन करोड़ का अटका बजट