Women’s Asia Cup : जीत के बाद जेमिमा रोड्रिग्स बोलीं- बेंगलुरू में धीमी और ‘टर्न’ लेती पिच पर तैयारी से मदद मिली

Women’s Asia Cup : जीत के बाद जेमिमा रोड्रिग्स बोलीं- बेंगलुरू में धीमी और ‘टर्न’ लेती पिच पर तैयारी से मदद मिली

सिलहट। भारतीय बल्लेबाज जेमिमा रोड्रिग्स ने शनिवार को महिला एशिया कप में श्रीलंका के खिलाफ खेली गई मैच विजेता पारी का श्रेय इस टूर्नामेंट से पहले बेंगलुरू की इसी तरह की ‘टर्न’ लेती पिच पर की गयी तैयारियों को दिया। कलाई की चोट से वापसी करने वाली जेमिमा अब पूरी तरह फिट हैं, वह इस …

सिलहट। भारतीय बल्लेबाज जेमिमा रोड्रिग्स ने शनिवार को महिला एशिया कप में श्रीलंका के खिलाफ खेली गई मैच विजेता पारी का श्रेय इस टूर्नामेंट से पहले बेंगलुरू की इसी तरह की ‘टर्न’ लेती पिच पर की गयी तैयारियों को दिया। कलाई की चोट से वापसी करने वाली जेमिमा अब पूरी तरह फिट हैं, वह इस चोट के करण हाल में इंग्लैंड श्रृंखला में नहीं खेल पायी थीं। उन्होंने 11 चौके और एक छक्के की मदद से टी20 अंतरराष्ट्रीय में करियर की सर्वश्रेष्ठ 76 रन की पारी से भारत को 41 रन से जीत दिलाने में अहम भूमिका अदा की।

जेमिमा ने मैच के बाद कहा, ‘‘विकेट मुश्किल था, यह धीमा था और टर्न नहीं ले रहा था लेकिन फिर इसने टर्न लेना शुरू कर दिया। लेकिन मैंने इसके लिये अच्छी तैयारी की थी। यहां तक कि बेंगलुरू में मैंने धीमे और टर्निंग विकेट की मांग की थी। वहां की तैयारी से मदद मिली। ’’ चोट के करण लंबे समय (छह हफ्ते) तक वह बल्ला नहीं छू पायी थीं और इसके बाद वह खेलने के लिये बेताब थीं। उन्होंने कहा, ‘‘जो चीज मुझे सबसे पसंद है, वही नहीं कर पाना काफी मुश्किल भरा थ। लेकिन सभी ने मेरी मदद की। वापसी करके भारत के लिये खेलने से बढ़कर कुछ नहीं। ’’

उन्होंने साथ ही कहा, ‘‘हम इस जीत से सकारात्मक चीजें सीखेंगे। गेंदबाजों ने काफी अच्छा कम किया और टीम में हर किसी ने अच्छा प्रदर्शन किया। ’’ कप्तान हरमनप्रीत कौर ने कहा कि उनकी टीम ने स्कोर में 20 रन कम बनाये लेकिन उन्हें लगता है कि यह सीखने की प्रकिया थी। उन्होंने कहा, ‘‘हमने अच्छी शुरूआत नहीं की लेकिन उन महत्वपूर्ण रन आउट के साथ हमने विकेट हासिल करना जारी रखा। हम खुश हैं कि हमारी गेंदबाजों ने अच्छा कम किया, विशेषकर दीप्ति शर्मा ने। ’’ हरमनप्रीत ने कहा, ‘‘महत्वपूर्ण विकेट खोने के बाद और मेरा विकेट गिरने के बाद हमारा स्कोर 20 रन कम रह गया था। अगर मैंने और जेमी ने खेलना जारी रखा होता तो हम 200 रन तक पहुंच सकते थे। लेकिन बतौर टीम यह सीखने की प्रक्रिया है।

ये भी पढ़ें : Women’s Asia Cup 2022 : महिला एशिया कप में टीम इंडिया का विजयी आगाज, श्रीलंका को 41 रन से हराया

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement