शिवसैनिकों को जमानत देने पर भाजपा का प्रदर्शन, फिर गिरफ्तारी की मांग

शिवसैनिकों को जमानत देने पर भाजपा का प्रदर्शन, फिर गिरफ्तारी की मांग

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के एक कार्टून को साझा करने वाले पूर्व नौसेना अधिकारी पर हमला करने वाले चार शिव सैनिकों की शनिवार को यहां की एक स्थानीय अदालत ने जमानत मंजूर कर ली। नौसेना के पूर्व अफसर से मारपीट के छह आरोपियों को जमानत मिलने के विरोध में भारतीय जनता पार्टी के …

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के एक कार्टून को साझा करने वाले पूर्व नौसेना अधिकारी पर हमला करने वाले चार शिव सैनिकों की शनिवार को यहां की एक स्थानीय अदालत ने जमानत मंजूर कर ली। नौसेना के पूर्व अफसर से मारपीट के छह आरोपियों को जमानत मिलने के विरोध में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं ने अतिरिक्त पुलिस आयुक्त के कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया।

प्रदर्शन करने वाले बीजेपी कार्यकर्ता आरोपियों के खिलाफ गैर जमानती अपराध के तहत मामला दर्ज करने की मांग कर रहे थे। अदालत ने चारों आरोपियों की जमानत मंजूर करते हुए प्रत्येक को 15 हजार रुपये के निजी बांड पेश करने के निर्देश दिए। आरोपियों के नाम कमलेश कदम, संजय शांताराम मंजरे, राकेश बेलवेकर और प्रताप मोतीरामजी हैं।

रिपोर्ट के अनुसार कांदिवली निवासी सेवानिवृत्त नौसेना अधिकारी मदन शर्मा (65) ने कथित तौर पर सोसायटी सदस्यों के एक व्हाट्सएप समूह में एक कार्टून साझा किया था, जिसमें ठाकरे को कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार के सामने हाथ जोड़े हुए दिखाया गया था।

यह घटना शुक्रवार दोपहर उस समय हुई जब 8-10 लोगों का एक समूह आया और उन्होंने अपने आपको शिव सैनिक बताया तथा शर्मा के साथ सोसायटी परिसर में मारपीट की।

भारतीय जनता पार्टी के विधायक अतुल भातलकर ने सीसीटीवी फुटेज की एक क्लिप सोशल मीडिया पर पोस्ट की है जिसमें दिखा गया है कि हमलावर शर्मा का पीछा कर रहे हैं, उनका कालर पकड़ कर घसीट रहे हैं और उनके साथ मारपीट कर रहे हैं।

सोसायटी के सुरक्षाकर्मियों ने इस दौरान कोई हस्तक्षेप नहीं किया। हमलावरों से बचते हुए शर्मा किसी तरह घर पहुंचे और बाद में पुलिस में शिकायत दर्ज कराई। हमलावरों के विरुद्ध गैर कानूनी रूप से एकत्र होने आदि मामलों के आरोप में प्रकरण दर्ज किया गया है।

Post Comment

Comment List