बरेली: जीएम कार्यालय में आग लगाने वाला पूर्व बैंक प्रबंधक दिल्ली से गिरफ्तार

आरोपी बैंक ऑफ बड़ौदा मुख्यालय दिल्ली में भी पहुंचा था आग लगाने

बरेली: जीएम कार्यालय में आग लगाने वाला पूर्व बैंक प्रबंधक दिल्ली से गिरफ्तार

बरेली, अमृत विचार। बैंक ऑफ बड़ौदा के जीएम को जिंदा जलाने के लिए कार्यालय में आग लगाने वाले पूर्व बैंक प्रबंधक गाेयल को पुलिस ने दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया। वह दिल्ली के कनाट प्लेस स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा मुख्यालय में भी आग लगाने के लिए पेट्रोल लेकर पहुंचा था। कर्मचारियों ने उसे पकड़कर दिल्ली पुलिस के हवाले कर दिया था। पुलिस ने आरोपी को सोमवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। आरोपी के खिलाफ कोतवाली और बारादरी में दो अलग-अलग रिपोर्ट दर्ज की गईं थीं।

बुलंदशहर निवासी बीओबी का निलंबित प्रबंधक अंकित गोयल इज्जतनगर के टयूलिप ग्रेस अपार्टमेंट में रहता था। उसकी पत्नी भी बैंक मैनेजर है। वह प्रेमनगर में किराये पर रहती हैं। तीन दिन पहले अंकित ने सीडीओ ऑफिस में आग लगाने की कोशिश की लेकिन नाकाम रहने पर बीओबी के क्षेत्रीय कार्यालय में जीएम के केबिन में आग लगा दी थी। इसके बाद दोपहर में पत्नी की कार को पेट्रोल डालकर जला दिया था और वहां से फरार हो गया था।

थाना कोतवाली प्रभारी दिनेश शर्मा ने बताया कि आरोपी दिल्ली के कनाट प्लेस स्थित बैंक ऑफ बड़ौदा के मुख्यालय में एक बोतल में पेट्रोल लेकर पहुंचा। बैंक कर्मचारियों ने विरोध किया तो मारपीट पर उतारू हो गया। मौके पर पहुंची कनाट प्लेस थाने की पुलिस ने उसे पकड़ लिया। जिसके बाद कोतवाली पुलिस को फोन पर जानकारी दी। कोतवाली पुलिस की टीम दिल्ली जाकर उसे बरेली लेकर आई। सोमवार को उसे कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

कोर्ट ने अंकित का जेल प्रशासन को मानसिक जांच कराने का दिया आदेश
पुलिस ने आरोपी अंकित गोयल को कोर्ट में पेश किया। जहां पर उसने खुद काफी देर तक बहस करते हुए दिल्ली पुलिस समेत कोतवाली पुलिस पर लाखों रुपये लेने का आरोप लगाया। कोर्ट ने उसकी मानसिक स्थिति को देखते हुए जेल प्रशासन को उसकी मानसिक जांच कराने का आदेश दिया है। आरोपी अंकित गोयल ने मई में दिल्ली के मेट्रो स्टेशन पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को जान से मारने की धमकी देते हुए आपत्तिजनक कथन लिखा था। मामले में दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था, हालांकि बाद में उसे जमानत पर रिहा कर दिया गया था।

तो क्या शातिर है अंकित
दिल्ली पुलिस ने जिस समय अंकित गोयल को हिरासत में लिया, उस समय अंकित ने दाढ़ी-मूछें हटा दी थीं, जबकि इससे पहले वह दाढ़ी और मूछ रखता था। आरोपी आग लगाने के बाद लगातार होटल बदल-बदल कर रहा था। हालांकि आरोपी की जेल प्रशासन मानसिक जांच कराएगा तो उसमें साफ होगा कि आरोपी की क्या स्थिति है।

बुलंदशहर में झगड़े के बाद हुआ था मुकदमा
28 मई को अंकित गोयल ने बुलंदशहर के बीओबी में कैशियर संजय सिंह से गाली गलौज की थी। इस मामले में भी बुलंदशहर में उसके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। अगले दिन 29 मई को वह जमानत पर छूट गया था। इसके अलावा आरोप है कि अंकित गोयल ने बैंक ऑफ बड़ौदा के कई अधिकारियों और कर्मचारियों के साथ भी गाली-गलौज की थी।

ये भी पढ़ें- बरेली: NEET, CUET और JEE के स्तर की कठिनाई कम करने से सामने आएंगे दूरगामी प्रभाव

 

 

ताजा समाचार

Exclusive: 50 मिनट में कानपुर से लखनऊ पहुंचाएगी हाई स्पीड वंदे भारत मेट्रो; बिना लोकोमोटिव इंजन के मिनटों में भरेगी तेज रफ्तार
जेल से रिहा होने पर बोले उदयभान करवरिया- राजनीतिक षडयंत्र के चलते काटनी पड़ी 10 साल जेल में सजा
Kairana सांसद Iqra Hasan का Parliament में पहला भाषण, Rail Mantri से कर दी ये मांग | SP MP इकरा हसन
बहराइच: पेट्रोल पम्प से 3 लाख की नकदी ले उड़े बेखौफ चोर, जांच में जुटी पुलिस
OLA से मिल रही चुनौती के बीच Google Maps ने भारत में कई नई सुविधाएं कीं पेश 
बरेली: रक्षाबंधन की तैयारियां शुरू...राखी बनाने में जुटे परिवार, बच्चों के लिए सुपर हीरो और गुड्डे वाले पर्स की राखियां