विज्ञान के क्षेत्र में अपार संभावनाओं को ध्यान में रखते हुए यूपी राजकीय विद्यालयों में गठित होंगे विज्ञान और गणित क्लब

विज्ञान के क्षेत्र में अपार संभावनाओं को ध्यान में रखते हुए यूपी राजकीय विद्यालयों में गठित होंगे विज्ञान और गणित क्लब

रविशंकर गुप्ता अमृत विचार। किसी भी देश के विकास में विज्ञान और तकनीक का बहुत बड़ा योगदान होता है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए प्रदेश सरकार ने सभी राजकीय विद्यालयों में विज्ञान और गणित क्लब स्थापित करने का निर्णय लिया है। इस बारे में जानकारी देते हुए लखनऊ मंडल जेडी माध्यमिक कार्यालय के मण्डलीय विज्ञान प्रगति अधिकारी डॉ दिनेश कुमार ने बताया कि इसके लिए अपर राज्य परियोजना निदेशक रमसा कार्यालय लखनऊ  से निर्देश जारी किये जा चुके हैं। जिसको जनपद स्तर तक प्रत्येक राजकीय विद्यालय में गठित करने कि कार्यवाही भी प्रारम्भ कर दी गयी है। डॉ दिनेश ने बताया कि लखनऊ मण्डल के 6 जनपदों सीतापुर, लखीमपुरखीरी,उन्नाव,लखनऊ,रायबरेली, हरदोई के सभी राजकीय विद्यालयों में विज्ञान व गणित क्लब गठित करने के लिए संयुक्त शिक्षा निदेशक लखनऊ मण्डल सुरेन्द्र तिवारी द्वारा भी मण्डल के सभी जिला विद्यालय निरीक्षकों को निर्देश जारी किए गये हैं। 

ये है प्रदेश सरकार का उद्देश्य
इस बारे में अधिकारियों ने बताया कि प्रत्येक विद्यार्थी में कुछ न कुछ विशेषताएं होती  हैं,जिन्हें वो कक्षाओं में प्रकट नहीं कर पाते,किन्तु जब उनको अनौपचारिक रूप से चर्चा परिचर्चा करने का कोई अवसर मिलता है तब वो अपनी उस प्रतिभा को व्यक्त करने में कामयाब हो जाते हैं। क्लब से गठन से सभी विद्यार्थियों को अनौचारिक रूप से विज्ञान व गणित में अपनी प्रतिभाओं को प्रकट करने का अवसर मिलेगा। 

गणित क्लब से ये होगा लाभ 
- विद्यार्थियों में तार्किक दृष्टिकोण का विकास
- समस्या समाधान की क्षमता का विकास करना
- विद्यार्थियों में गणित के प्रति रूचि का विकास करना 
- गणित के सिधान्तों को दैनिक जीवन में उपयोग सीखने का अवसर प्रदान करना 

विज्ञान क्लब से ये होंगे फायदे
- विद्यार्थियों में वैज्ञानिक दृष्टिकोण का विकास करते हुए विज्ञान के प्रति अभिरुचि का विकास करना 
- आपस में एक दुसरे का सहयोग ,समस्याओं को सुलझाने व् खोजी प्रवृत्ति का विकास करना 
- समाज में फैले अंधविश्वासों को वैज्ञानिक तर्क देकर दूर करना 
- विद्यार्थियों में नवीनता व् रचनात्मकता का विकास करना 
- प्राकृतिक संसाधनों का समुचित उपयोग और उनका संरक्षण करना 

इस तरह से स्थापित होंगे विज्ञान व गणित क्लब
- विद्यालय के प्रिंसिपल क्लब के संरक्षक होंगे
- मेंटर या मार्गदर्शक-प्रिंसिपल द्वारा नामित सम्बन्धित विषय का शिक्षक 
-अध्यक्ष के रूप में कक्षा 11 का वो छात्र जिसके कक्षा 10 विज्ञान /गणित में सर्वोच्च अंक हों 
- सचिव के रूप में कक्षा 10 का वो छात्र होगा जिनके कक्षा 9 विज्ञान/गणित में सर्वोच्च अंक होंगे 
- सहायक सचिव- कक्षा 9 का वो छात्र या छात्रा होंगे जिनके क्लास 8 में विज्ञान/गणित में सर्वोच्च अंक हों 
- सदस्य-कक्षा 11 का वो छात्र या छात्रा जिनका कक्षा 10 में विज्ञान/गणित में अंकों में द्वितीय स्थान प्राप्त हो 
- सदस्य-कक्षा 10 का वो छात्र या छत्रा होगा जिनका कक्षा 9 में गणित/विज्ञान विषय में द्वितीय स्थान प्राप्त हो 
-  इस प्रकार विद्यालय के प्रधानाचार्य द्वारा जिसका कार्य क्लब के प्रति उत्कृष्ट न हो वो अपने स्तर से चक्रानुसार बदल सकते हैं 

dimnesd
डॉ दिनेश कुमार मण्डलीय विज्ञान प्रगति अधिकारी लखनऊ मंडल 

कोट..........
प्रदेश सरकार द्वारा विज्ञान व गणित के प्रति छात्र छात्राओं में रूचि के विकास हेतु सराहनीय कदम  उठाये गए हैं जिनसे हमारे जनपद,मण्डल व राज्य के राजकीय विद्यालयों में विज्ञान गणित के पठन पाठन में एक नया वातावरण विकसित होने के साथ साथ छात्र संख्या में भी सार्थक वृद्धि होगी
- डॉ दिनेश कुमार मण्डलीय विज्ञान प्रगति अधिकारी लखनऊ मंडल 

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement