दिल्ली: साइबर अटैक के बाद AIIMS का सर्वर बहाल, नेटवर्क को किया जा रहा है सैनिटाइज

एम्स सर्वर हैक केस की NIA कर सकती है जांच, गृह मंत्रालय में हुई हाई लेवल मीटिंग

दिल्ली: साइबर अटैक के बाद AIIMS का सर्वर बहाल, नेटवर्क को किया जा रहा है सैनिटाइज

नई दिल्ली। दिल्ली के अखिल भारतीय आर्युविज्ञान संस्थान (AIIMS) में हुए साइबर अटैक के बाद मंगलवार शाम को डेटा सर्वर बहाल कर दिया गया है। साइबर-सिक्योरिटी इंसिडेंट पर दिल्ली एम्स प्रबंधन ने बयान जारी किया है। जिसमें दावा किया है कि एम्स का डेटा सर्वर पर बहाल कर दिया गया है। सेवाओं को बहाल करने से पहले नेटवर्क को सैनिटाइज किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें- ‘भारत जोड़ो यात्रा’ में शामिल हुए गोवा फॉरवर्ड पार्टी के नेता

अस्पताल सेवाओं के लिए डेटा वॉल्यूम और बड़ी संख्या में सर्वर/ कंप्यूटर के कारण प्रक्रिया में कुछ समय लग रहा है। साइबर सुरक्षा के लिए उपाय भी किए जा रहे हैं। आउटपेशेंट इन-पेशेंट, लैब समेत सभी अस्पताल सेवाएं मैनुअल मोड पर चलती रहेंगी। 

बता दें कि 23 नवंबर को करीब 11-12 घंटे तक AIIMS का सर्वर डाउन रहा था, उसके बाद एम्स के सिक्योरिटी ऑफिसर की शिकायत पर केस दर्ज किया गया।

गृह मंत्रालय में उच्च स्तरीय बैठक
दिल्ली स्थित देश के सबसे बड़े अस्पताल AIIMS के सर्वर हैक मामले में नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) जांच कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक, मामले को लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय में उच्च स्तरीय बैठक बुलाई गई थी। उल्लेखनीय है कि करीब हफ्तेभर से एम्स का सर्वर रैंसमवेयर हमले से जूझ रहा है। बुधवार (23 नवंबर) को एम्स का सर्वर हैक होने का मामला सामने आया था।

NIC की टीम संभालती है सर्वर
सूत्रों के अनुसार इंडिया कम्प्यूटर इमरजेंसी रिस्पॉन्स टीम (
CERT-IN), दिल्ली पुलिस, CBI और (IB) के साइबर एक्सपर्ट मामले को देख चुके हैं। एम्स में काम कर रही नेशनल इन्फोर्मेटिक्स सेंटर (NIC) की टीम ने रैनसमवेयर अटैक की आशंका जताई थी। एम्स का सर्वर NIC की टीम ही संभालती है।

ये भी पढ़ें- पहले नहीं होता था चुनाव, सपा के गुंडों के कब्जे में रहते थे रामपुर के बूथ : बृजेश पाठक

Related Posts

Post Comment

Comment List