किच्छा: गैस रिफिलिंग के दौरान लगी आग की चपेट में आई महिला आखिरकार 16वें दिन जिंदगी से जंग हार गई

किच्छा: गैस रिफिलिंग के दौरान लगी आग की चपेट में आई महिला आखिरकार 16वें दिन जिंदगी से जंग हार गई

किच्छा, अमृत विचार। कोतवाली अंतर्गत क्षेत्र में किराने की दुकान पर सामान लेने गई महिला गैस रिफिलिंग के दौरान लगी आग की चपेट में आकर गंभीर रूप से घायल हो गई। घायल महिला 16 दिनों तक जिंदगी और मौत से जूझती रही।

कई दिनों के इलाज के बाद आखिरकार महिला ने दम तोड़ दिया। महिला की मौत के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। गमगीन माहौल में परिजनों ने महिला का अंतिम संस्कार कर दिया। पुलिस ने मृतका के पुत्र की शिकायत पर आरोपी दुकान स्वामी  के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस को दी शिकायत में शिव मंदिर, वार्ड नंबर 11, नई   सुनहरी, किच्छा निवासी अरुण पुत्र सुनील ने कहा कि वह परिवार के साथ किराए के मकान में रहता है तथा घर के निकट गली में वार्ड 11 निवासी छेदा लाल द्वारा किराने की दुकान की आड़ में गैस सिलेंडर रिफिलिंग का अवैध रूप से कारोबार किया जाता है।

पीड़ित ने बताया कि विगत 5 नवंबर की शाम करीब 7:00 बजे उसकी माता राजो देवी सामान लेने के लिए छेदा लाल की दुकान पर गई थी। इस  दौरान दुकानदार छेदा लाल का रिश्तेदार राजू तथा छेदा लाल की पत्नी गैस रिफिलिंग करने लग गए। जिससे अचानक गैस सिलेंडर में आग लग गई। घटना में राजो देवी, गैस रिफिलिंग कर रहा राजू तथा छेदा लाल की पत्नी गंभीर रूप से झुलस गए।

घटना में घायल राजो देवी को किच्छा के सरकारी अस्पताल  में प्राथमिक उपचार के बाद डॉक्टरों ने सुशीला तिवारी अस्पताल हल्द्वानी रेफर कर दिया। जहां पर हालत बिगड़ने पर परिजन उन्हें इलाज के लिए बरेली के निजी अस्पताल ले गए। पीड़ित ने बताया कि करीब 16 दिन  इलाज कराने के बाद विगत दिवस उसकी माता राजो देवी की मौत हो गई। पीड़ित ने बताया कि उसके तीन छोटे भाई बहन हैं तथा उनकी माता राजो देवी द्वारा मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण किया जाता था। शिकायत के आधार पर पुलिस ने आरोपी छेदा लाल के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

ताजा समाचार

Online Jobs Apply