रायबरेली: बच्चों को बताया गया कार्तिक पूर्णिमा का धार्मिक महत्व

रायबरेली: बच्चों को बताया गया कार्तिक पूर्णिमा का धार्मिक महत्व

महराजगंज/रायबरेली, अमृत विचार। कस्बा स्थित महावीर स्टडी स्टेट सीनियर सेकेंडरी कालेज में कार्तिक पूर्णिमा एवं गुरुनानक जयंती की पूर्व संध्या पर एक गोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें गुरुनानक के जीवन और कार्तिक पूर्णिमा के महात्म के बारे में बच्चों को विस्तार से जानकारी दी गई।

विद्यालय के प्रधानाध्यापक कमल बाजपेई ने कार्तिक मास का महत्व बताते हुए कहा कि यह माह तप साधना के लिए उपयुक्त व मोक्षदायक है। उन्होंने कार्तिकेय द्वारा आतताई राक्षस तारकासुर के वध की कथा सुनाई। माना जाता है कि भगवान विष्णु ने मतस्य अवतार जब लिया था तो उनका निवास स्थान जल में ही था। 

इस मान्यता के अनुसार लोग कार्तिक मास की पूर्णिमा तिथि के दिन पवित्र तीर्थ नदियों में स्नान करते हैं। इस दिन स्नान करने से अक्षय पुण्य की प्राप्ति होती है। बड़े-बड़े यज्ञ से जो फल प्राप्त होता है, वही फल कार्तिक पूर्णिमा के दिन पवित्र तीर्थ नदियों में स्नान करने से मिलता है। यह साल का सबसे बड़ा स्नान होता है। 

इस स्नान से कई फल प्राप्त होते हैं। यदि आप जीवन में परेशान चल रहे हैं तो इस दिन तीर्थस्थान पर जाकर अवश्य स्नान करें। ऐसा करने से आपको भगवान विष्णु जी की कृपा प्राप्त होगी और आपके जन्मों-जन्मों के पाप मिट जाएंगे। इस दिन स्नान करने से जीवन में चल रही आर्थिक परेशानी भी दूर हो जाती है, क्योंकि पूर्णिमा का दिन मां लक्ष्मी को भी समर्पित होता है।

इस दिन विशेष रूप से भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी की पूजा अवश्य करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि  मानवता का पाठ पढ़ाने वाले नानकदेव का दिव्य ज्ञानदर्शन वर्षों से मानवता को आलोकित कर रहा है। वही क्षेत्राधिकारी इंद्रपाल सिंह व इंस्पेक्टर संतोष कुमारी ने स्कूल के बच्चों को सड़क सुरक्षा व नारी सशक्तिकरण का पाठ पढ़ाया। इस मौके पर अनिल कुमार सिंह सहित स्कूल के सभी अध्यापक मौजूद रहे।

ये भी पढ़ें -शाइन सिटी घोटाला: ED ने मालिक की करीबी महिला को हरदोई से किया Arrest

Online Jobs Apply