खटीमा: वन महोलिया के छठ घाट पर अवैध कब्जे को लेकर महिलाओं ने किया प्रदर्शन

खटीमा: वन महोलिया के छठ घाट पर अवैध कब्जे को लेकर महिलाओं ने किया प्रदर्शन

खटीमा, अमृत विचार। भारत नेपाल सीमा पर बहने वाली शारदा नदी के किनारे वन महोलिया गांव में बने छठघाट पर कुछ लोगों पर कब्जा करने का आरोप लगाते हुए महिलाओं ने प्रदर्शन किया घाट की भूमि को तत्काल खाली कराने की मांग की। मौके पर पहुंचे उपजिलाधिकारी ने अतिक्रमण हटाने की करवाई के निर्देश दिए।
 
शारदा नदी के किनारे वन महोलिया ग्रामवासियों द्वारा छठ घाट बनाया गया है। जिसपर हर वर्ष ग्रामीणों द्वारा पूजा अर्चना की जाती है। ग्रामीणों का आरोप है की कुछ लोगों ने घाट की भूमि पर अतिक्रमण कर गन्ने की फसल लगा दी है। इतना ही नहीं यह भी कहा है कि उनके छठ मैया के स्थल को भी लोगों ने उखाड़ कर इधर-उधर फेंक दिया है जिसको लेकर महिलाओं ने घाट पर ही प्रदर्शन किया।
 
सूचना पर उपजिलाधिकारी रविंद्र सिंह बिष्ट और नायब तहसीलदार नरेंद्र गहतोड़ी ने राजस्व विभाग की टीम के साथ मौके पर पहुंचकर निरीक्षण किया तथा छठ घाट पर हुए अवैध कब्जे को हटाने को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। महिलाओं ने कहा कि घाट पर बनी छठ माता की प्रतिमाओं को तोड़कर गन्ने की फसल लगा दी गई है। यह भी कहा कि सम्पर्क मार्गों पर अवैध कब्जा कर लिया है। जिससे घाट पर पूजा अर्चना करने में काफी दिक्कत हो सकती है। प्रदर्शन करने वालों में ज्ञान्ती देवी, रामपति, मीना देवी, फूलमती, नीलम, नीता, बूची देवी, मानमती, उर्मिला, कलिन्दा देवी, चानमुनि, पाना देवी आदि मौजूद थे।
 
मंडी अध्यक्ष नंदन ने छठ घाट का किया निरीक्षण
खटीमा। कृषि उत्पादन मंडी समिति के अध्यक्ष नंदन सिंह खड़ायत ने टीम के साथ गुरुवार को ग्रामीण क्षेत्रों में छठ घाट की रंगाई पुताई और साफ सफाई के कार्यों का निरीक्षण किया। उन्होंने खिलड़िया बाईस पुल के छठ घाट पर पहुंचकर निरीक्षण किया। इस अवसर पर रामायण राम, हृदयानंद, दिनेश कुमार, कन्हैयालाल, विमल कुमार, रामदरश, छोटेलाल आदि मौजूद रहे।

ताजा समाचार