सुरंग में फंसे 41 श्रमिकों की सुरक्षित निकासी के लिए विभिन्न संगठनों ने की पूजा

सुरंग में फंसे 41 श्रमिकों की सुरक्षित निकासी के लिए विभिन्न संगठनों ने की पूजा

उत्तरकाशी। उत्तराखंड में सिलक्यारा सुरंग के अंदर पिछले लगभग एक सप्ताह से फंसे 41 मजदूरों के सकुशल बाहर आने की कामना करते हुए विभिन्न धार्मिक संगठनों द्वारा पूजा पाठ, हवन, यज्ञ और प्रार्थनाओं का दौर शुरू हो गया है।

यहां के प्रसिद्ध काशी विश्वनाथ मंदिर में शनिवार को विभिन्न धार्मिक संगठनों के लोगों ने सुरंग में फंसे मजदूरों की सलामती के लिए पूजा- पाठ किया और उसके बाद महामृत्युंजय मंत्र का जाप करते हुए हवन किया। 

अष्टादश पुराण समिति के अध्यक्ष हरि सिंह राणा ने कहा कि सुरंग में फंसे श्रमिकों को बाहर निकालने के तमाम एजंसियों के प्रयास लगातार असफल हो रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘उत्तराखंड देवभूमि है और यहां पर देवी-देवता निवास करते हैं इसलिए हम लोगों ने आज बाबा भोलेनाथ, मां शक्ति और उत्तराखंड में निवास करने वाले 33 करोड़ देवी देवताओं से प्रार्थना की है कि सुरंग से श्रमिक सुरक्षित बाहर आ जाएं ।’’ मंदिर में पूजा करने वालों में अष्टादश पुराण समिति के अलावा विश्वनाथ मंदिर के महंत जयेंद्र पुरी तथा अन्य संगठनों से जुड़े लोग शामिल थे। 

ये भी पढे़ं- उत्तरकाशी सुरंग हादसा: बचाव अभियान में रुकावट, इंदौर से पहुंचेगी स्पेशल मशीन, 7 दिन से फंसे हैं 41 मजदूर 

 

FOOTER:

ताजा समाचार

Kanpur News: सोना लेकर चंपत 'संपत' का गैर जमानती वारंट...अब पुलिस की एक टीम जाएगी महाराष्ट्र
Kanpur IT Raid: तंबाकू कारोबारी के यहां 100 करोड़ की टैक्स चोरी पकड़ी…टीम ने ये सामान किया बरामद
कौशांबी में भीषण सड़क हादसा: ट्रक से टकराई बोलेरो, तीन की मौत, पांच अन्य गंभीर
माओवादी संबंध मामला: बॉम्बे हाईकोर्ट ने दिल्ली विश्वविद्यालय के पूर्व प्रोफेसर साईबाबा को किया बरी
IIT Kanpur ने दिखाया बेहद सस्ते सोलर पैनल का रास्ता…संस्थान की शोध को माना जा क्रांतिकारी कदम, चीन के वर्चस्व को मिलेगी चुनौती
गाजा में संयुक्त राष्ट्र की एजेंसी के 450 कर्मचारी आतंकवादी समूहों के सदस्य, इजराइल का बड़ा आरोप
Online Jobs Apply