भीमताल: कैमरों में भी नहीं दिखाई दे रहा तेंदुआ और बाघ 

भीमताल: कैमरों में भी नहीं दिखाई दे रहा तेंदुआ और बाघ 

भीमताल, अमृत विचार। भीमताल ब्लॉक में बाघ द्वारा दो महिलाओं को मारने के तीन दिन बीत जाने के बाद भी वन विभाग उसकी सटीक लोकेशन नहीं पता कर सका है। जबकि विभागीय अधिकारी पिछले चार दिनों से जंगल में डेरा डाले हुए हैं। प्रभावित क्षेत्र के ग्रामीणों ने अपने-अपने गांव में विभिन्न वन विभाग की टीम की उपस्थिति की पुष्टि की है।

वहीं वन क्षेत्राधिकारी मुकुल शर्मा ने बताया कि लगभग पचास कर्मचारियों को और बढ़ा दिया गया है। अब 80 से ज्यादा कर्मचारी विभिन्न ग्राम सभाओं के जंगल में गश्त कर रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ मलवाताल और पिनरौ में वन विभाग द्वारा लगाए गए ट्रैप कैमरों में भी कोई न तेंदुआ और न कोई बाघ ट्रेस हो पाया है। वन विभाग ने प्रभावित क्षेत्रों में सतर्कता बरतने का निवेदन किया है। 

ग्रामीण क्षेत्र का सारा कारोबार प्रभावित
भीमताल। विधानसभा के मलवाताल और पिनरौ में शाम होते ही सन्नाटा पसर जा रहा है। मलवाताल के प्रधान लक्ष्मण सिंह गंगोला ने बताया कि महिला को बाघ के द्वारा निवाला बनाने की घटना को लगभग चार दिन हो गए हैं। पर पिछले चार दिनों से गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है। ग्रामीण शाम को तीन बजे की घरों के अंदर चले जा रहे हैं। यहां तक कि दूध साग सब्जी सारा कारोबार प्रभावित है। जिन घरों में पानी का अभाव है वहां पानी की किल्लत भी होने लगी है। दुधारु जानवरों को हरी घास नहीं मिल पा रही है। धूप में जानवरों को बांधने में खतरा अलग से है। वहीं ग्राम प्रधान लक्ष्मण सिंह गंगोला, चंदन बेलवाल, मोहन बेलवाल, घनानंद बेलवाल आदि ने वन विभाग से संपर्क कर शीघ्र से शीघ्र भीमताल बलाक को बाघ के आतंक से मुक्त करने का निवेदन किया है। 

पिनरौ में सन्नाटा छाया 
भीमताल ब्लाक के पिनरौ में सन्नाटा पसरा हुआ है। बीडीसी मेंबर यशपाल आर्य, पूर्व बीडीसी उमेश पलड़िया ने बताया कि मंडी को पिछले तीन दिनों से न तो कृषि उत्पाद जा पा रहे हैं। न ही पूर्व की भांति दुग्ध ही समिति मे पहुंच पा रहा है। वहीं अवगत कराया कि अधिकांश ग्रामीण अपने दो पहिया वाहन से ही भीमताल और हल्द्वानी आना जाना करते थे। ऐसे में कोई बस का संचालन नहीं होने से क्षेत्र की जिंदगी ठहर सी गई है। यहां शांति पलड़िया, सरस्वती, कलावती, हेमा, हरूली देवी, बसंती देवी ने बताया कि जानवरों के खान पान प्रभावित होने लगा है। खेतों में पानी नहीं आने से कृषि उत्पाद प्रभावित हैं। 

हैड़ाखान में ग्रामीण दे रहे हैं ग्राम सभा में पहरा 
भीमताल के महत्वपूर्ण ग्राम सभा में शुमार हैड़ाखान ग्राम सभा में ग्रामीण सवेरे और शाम को पहरा दे रहे हैं। क्षेत्रीय निवासी हरेन्द्र संभल ने बताया कि ग्रामीणों ने अपनी नजरों से ग्राम सभा के तोक भोडिया में धारीधार शेर देखा है जो कि पिछले दो दिनों से झाडियों में छिपा है वहीं बताया कि दो दिन से कहीं वह ग्राम सभा में ना घुस जाए इसके लिए ग्रामीण पहरा दे रहे हैं। वहीं ग्रामीणों ने अवगत कराया कि सोमवार के दोपहर जब ग्रामीणों ने कुछ समय के लिए पहरा देना बंद कर दिया उस समय झाडी में कुछ हलचल हुई। वहीं मौके पर मौजूद ग्रामीणों ने बताया कि इसी दौरान वहां मौजूद जानवर उड़वा ग्राम सभा की ओर भाग गया। इस दौरान पूर्व प्रधान नवीन पलडिया इंद्र राम आदि मौजूद थे। 

ताजा समाचार

श्रावस्ती: चुपचाप कीमती सागौन के पेड़ काट रहे थे दो चोर, पुलिस पहुंची तो हुई यह कार्रवाई
कमिश्नर का एक्शन, लेखपाल पर कार्रवाई करते हुए कहा लापरवाही पर सस्पेंड होंगे जिम्मेदार  
अयोध्या: मनमानी रोकने को यातायात पुलिस ने जारी की ई रिक्शा की किराया सूची, सार्वजनिक स्थलों पर होगी चस्पा
कासगंज: सांसद ने कछला गंगा घाट पर किया सह भोज का आयोजन, जनप्रतिनिधियों और कार्यकर्ताओं का लगा जमावड़ा
Kanpur: चकेरी एयरपोर्ट पर रात में भी होगी लैंडिंग? मर्चेंट चेंबर की ओर से रक्षा सचिव को लिखा गया पत्र, अनुमति का इंतजार...
बरेली: कचहरी पर दो दुकानों में चोरी, हजारों का सामान चोर लेकर हुए फरार
Online Jobs Apply