लखनऊ: विशेषज्ञों ने दी पुलिस फोटोग्राफी और कम्प्यूटर से जुड़ी तकनीकी जानकारी

अखिल भारतीय पुलिस ड्यूटी मीट का पहला दिन, एसएसबी और मध्य प्रदेश पुलिस की टीमें पाई गईं अनुपयुक्त

लखनऊ: विशेषज्ञों ने दी पुलिस फोटोग्राफी और कम्प्यूटर से जुड़ी तकनीकी जानकारी

लखनऊ, अमृत विचार। अखिल भारतीय पुलिस ड्यूटी मीट (एआईपीडीएम) सोमवार से बाबू जगजीवन राम आरपीएफ अकादमी में शुरू हुई। मुख्य अतिथि डीजी एनआईए दिनकर गुप्ता ने कार्यक्रम की शुरुआत की। उद्घाटन समारोह में एआईपीडीएम और आरपीएफ झंडे को फहराया गया। इस दाैरान विशेषज्ञाें ने पुलिस फोटोग्राफी व कम्प्यूटर से जुड़ी तकनीकी जानकारी दी।

पहले दिन कार्यक्रम में एआईपीडीएम की टीम के कैप्टनों की भागीदारी रही। जवानों ने मार्च पास्ट में अपने बलों का नेतृत्व किया। इसके बाद सभी प्रतिभागियों ने शपथ-ग्रहण समारोह में हिस्सा लिया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि दिनकर गुप्ता ने रेलवे सुरक्षा बल की पत्रिका ‘रेल सैनिक’का भी अनावरण किया। कार्यक्रम में रेलवे अधिकारी और उनके परिवार, ज्यूरी सदस्य, विभिन्न राज्य पुलिस बलों और केंद्रीय सशस्त्र बलों के सदस्य मौजूद रहे।

एआईपीडीएम में सोमवार को विभिन्न प्रतियोगिताओं की शुरुआत हुई। पहले दिन अन्वेषण के वैज्ञानिक साधन, पुलिस फोटोग्राफी, कम्प्यूटर जागरूकता, एंटी-सेबोटाज चेक और श्वान दल से जुड़े कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कम्प्यूटर जागरूकता प्रतियोगिता कम्प्यूटर लैब, यूपी पुलिस हेडक्वार्टर्स में आयोजित की गई। वहां विभिन्न राज्य पुलिस और सीएपीएफ के 25 टीम प्रबंधकों को मुख्य न्यायाधीश ने शर्तें और नियमों पर चेतावनी दी। प्रतियोगिता में कुल 27 टीमों ने भाग लिया।

श्वान दल प्रतियोगिता 3 बीएन, आरपीएसएफ के बीच हुई। इसमें मूल अनुपालन और भोजन की मनाही पर ध्यान केंद्रित किया गया, जिसमें राज्य पुलिस और सशस्त्र बलों की 26 टीमों ने भाग लिया। प्रतिभागियों ने तीन क्षेत्रों के कार्यक्रमों में भाग लिया। नारकोटिक्स 29, विस्फोटक 45 और ट्रैकिंग 42 के प्रतिभागी शामिल हुए। एसएसबी और मध्य प्रदेश पुलिस की टीमें अनुपयुक्त पाई गई। 2009 में स्थापित की गई राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) और आतंकवाद-विरोधी एजेंसी गृह मंत्रालय केंद्र सरकार के अधीन कार्य करती है। इनके प्रतिनिधियों के साथ ही अन्य सुरक्षा एजेंसियों के प्रतिनिधि इस कार्यक्रम में मौजूद रहे।

अन्वेषण वैज्ञानिक साधन की स्पर्धाएं आज

एंटी-सबोटाज चेक प्रतियोगिता राजपत्रित अधिकारी निलय जगजीवन राम आरपीएफ अकादमी के प्रमुख हॉल और नए हॉस्टल में हुई। प्रतियोगिता में 24 पुलिस और केंद्रीय सशस्त्र बलों की 24 टीमों के 48 प्रतिभागियों ने 20 मिनट का लिखित परीक्षण और 5 मिनट का जांच और फ्रिस्किंग का अभ्यास किया। अन्वेषण वैज्ञानिक साधन की प्रतियोगिता में आज अलग-अलग पुलिस बलों और सीएपीएफ से 29 टीमों और 774 प्रतिभागी आठ विभिन्न स्पर्धाओं में भाग लेंगे।

यह भी पढ़ें:-श्रीराम दर्शन यात्रा: सुव्यस्थित संचार के लिए लगाए गए 138 फोन, अयोध्या धाम में चल रहा बहुभाषी काल सेंटर

Online Jobs Apply