Bareilly News: पुलिस ने जज की रोकी कार, पुलिसकर्मियों को निलंबित करने का आदेश

Bareilly News: पुलिस ने जज की रोकी कार, पुलिसकर्मियों को निलंबित करने का आदेश

बरेली, अमृत विचार। कलेक्ट्रेट के पास लोकसभा चुनाव ड्यूटी में तैनात पुलिस कर्मियों ने सिविल जज जूनियर डिवीजन आकाश गुप्ता की कार रोक दी। जज के परिचय देने के बाद भी पुलिसकर्मियों ने कार जाने नहीं दी तो जज ने एसएसपी घुले सुशील चंद्रभान को फोन कर पुलिस कर्मियों पर कार्रवाई के आदेश दिए। 

एसएसपी ने एक इंस्पेक्टर समेत चार पुलिस कर्मियों को निलंबित करने की संस्तुति कर चुनाव आयोग को रिपोर्ट भेज दी है। इस मामले में वहां मौजूद एसपी क्राइम मुकेश कुमार सिंह की भी लापरवाही भी सामने आई है।

लोकसभा चुनाव के नामांकन के दौरान कलेक्ट्रेट में एसपी समेत ढाई सौ पुलिस कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। सोमवार को भी उम्मीदवार अपने समर्थकों के साथ नामांकन करने के लिए कलेक्ट्रेट पहुंच रहे थे। इसी दौरान करीब एक बजे स्टेशन रोड से कलेक्ट्रेट की तरफ सिविल जज जूनियर डिवीजन आकाश गुप्ता अपनी कार से कोर्ट के लिए जा रहे थे। वहां पर बैरिकेडिंग कर लोगों और वाहनों को रोका जा रहा था। 

अपराध शाखा में तैनात निरीक्षक श्रवण कुमार सिंह, मीरगंज थाने में तैनात दरोगा सूरज पाल सिंह, फतेहगंज पश्चिमी के सिपाही विष्णु कुमार और लेखपाल सागर ने जज की गाड़ी को रोक दिया। जज की गाड़ी पर स्टीकर लगा हुआ था, इसके अलावा उन्होंने अपना परिचय भी दिया। 

आरोप है कि इसके बावजूद पुलिस कर्मियों ने उन्हें अंदर जाने से रोक दिया। जिस पर उन्होंने तुरंत एसएसपी को फोन कर पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई का आदेश दिया। एसएसपी ने जांच कराई तो सभी की ड्यूटी में लापरवाही पाई गई। जिसके बाद सभी को निलंबित करने के लिए चुनाव आयोग को संस्तुति भेज दी है।

जज खुद चला रहे थे अपनी कार
बताया जा रहा है कि जज कार खुद चला रहे थे। जब पुलिस ने उन्हें रोका तो उन्होंने कहा कि वह कोर्ट में जा रहे हैं। इस पर पुलिस कर्मियों ने इशारा कर कहा कि दूसरी तरफ से जाइये। इस पर जज ने कहा कि आपके जो वरिष्ठ अधिकारी हैं उनको बता दें। दरोगा और सिपाहियों ने कहा है कि जो आदेश है वह आदेश है। इस दौरान इंस्पेक्टर भी पहुंचे और उन्होंने भी इशारा कर दिया की घूम कर जाओ। जज ने तीन बार अपना आईकार्ड भी दिखाया लेकिन पुलिसकर्मी नहीं मानें।

पुलिस से लोगों की भी हुई नोकझोंक
नामांकन के दौरान कचहरी के लिए आने-जाने वाले लोगों को भी रोका गया। इस दौरान पुलिस और लोगों के बीच भी तीखी नोकझोंक चलती रही। हालांकि विवाद बढ़ने पर कोई न कोई अधिकारी आकर समझा लोगों को शांत कर देते। एक मंत्री के साथ भी पुलिस की नोकझोंक हुई्र हालांकि एक सीओ ने आकर मामला किसी तरह से संभाला।

एक इंस्पेक्टर समेत चार पुलिस कर्मियों की ड्यूटी में लापरवाही पाई गई है। चारों को निलंबित करने के लिए संस्तुति कर चुनाव आयोग को रिपोर्ट भेज दी है। -घुले सुशील चंद्रभान, एसएसपी

ये भी पढे़ं- Bareilly News: 1.20 करोड़ लेने के बाद भी जमीन का नहीं कराया बैनामा, विरोध करने पर दी जान से मारने की धमकी

 

ताजा समाचार