प्रतापगढ़: किसानों की गाढ़ी कमाई में लगी आग,100 बीघे से अधिक गेहूं की फसल राख

प्रतापगढ़: किसानों की गाढ़ी कमाई में लगी आग,100 बीघे से अधिक गेहूं की फसल राख

प्रतापगढ़,अमृत विचार। जिले में बुधवार को अलग - अलग स्थानों पर किसानों की गाढ़ी कमाई में आग लग गई। भीषण अग्निकांड में 100 बीघे से अधिक की गेहूं की फसल जलकर राख हो गई। कुछ जगह सूचना के बावजूद दमकल कर्मी भी समय पर नहीं पहुंच सके। कुछ जगह ग्रामीणों व फायर ब्रिगेड कर्मियों के सहयोग से आग को काबू में किया गया। संयोग रहा कि कोई अनहोनी नहीं हुई। अफसरों ने क्षतिपूर्ति कराने का भरोसा पीड़ितों को दिया।

कोहंड़ौर थाना क्षेत्र के लौली, पूरे क्षमा तथा पूरे मनिकंठ गांव के दर्जनों किसानों का खेत नहर के किनारे पर है। बुधवार दोपहर में संदिग्ध परिस्थितियों में पूरे मनिकंठ गांव निवासी मोती लाल मिश्र के कटे हुए गेंहू के डंठल में अचानक आग लग गई। धीरे - धीरे पूरे क्षमा गांव के बृजेंद्र पांडेय, विशाल पांडेय,कृष्ण कुमार पांडेय,राजीव शुक्ल, अंतिम शुक्ल के खेत भी आग की चपेट में आ गए। जिसे जो मिला वह उसमें पानी लेकर बुझाने का प्रयास किया लेकिन आग ने विकराल रूप ले लिया। बगल में आशु पांडेय,राजेन्द्र पांडेय, अशोक पांडेय ,सुरेंद्र पांडेय, अमृता देवी मिश्र,ब्रह देव, संजीव शुक्ल, शोभनाथ पांडेय व लौली गांव के राघव राम के गेंहू की फसल राख हो गई। ग्रामीण आग बुझाने का प्रयास करते रहे। सूचना पर नगर पंचायत कोहंडौर से पानी भरकर टैंकर पहुंचा।पूरे क्षमा गांव के संजीव कुमार शुक्ल के दरवाजे पर कटकर रखे गेंहू के बोझ में भी आग लग गई। तब तक फायरब्रिगेड की दो गाड़ी भी पंहुची तब जाकर करीब दो घण्टे बाद आग को काबू में किया गया।

देल्हूपुर क्षेत्र के तौकलपुर गांव में गेहूं काटने वाली मशीन से निकली चिंगारी से गेहूं की खड़ी एवं काटी हुई फसल जल कर राख हो गई। ग्रामीणों व फायर ब्रिगेड के सहयोग से आग पर काबू पाया गया। गांव के शमशाद, मुकीम, गफ्फार, सलीम, अयूब, सत्तार, समई, अभिषेक, प्रदीप, राजाराम आदि के गेहूं की फसल राख हो गई।

मानधाता में लगी आग तो राख होने के बाद पहुंचती है फायरब्रिगेड

जनपद की विश्वनाथगंज विधानसभा की सबसे बड़ी ब्लाक मानधाता में लंबे समय से फायरब्रिगेड की मांग की जा रही है। आलम यह है कि 100 से अधिक ग्राम पंचायत वाले इस ब्लाक की सीमा में दो नगर पंचायत भी हो गई हैं। बावजूद इसके यहां एक भी फायर स्टेशन भी नहीं है। ऐसे में यहां जब भी भीषण आग लगी है स्थानीय लोगों के सहयोग से आग काबू में हो गई तो ठीक है।

अन्यथा की स्थिति में जब तक फायर बिग्रेड की गाड़ी पहुंचती है तब तक सब कुछ जलकर राख हो जाता है। कुछ ऐसा ही बुधवार को धरमपुर गांव में शॉर्ट सर्किट से गेहूं की फसल में आग लगने के बाद हुआ। मो. इलियास,जव्वाद अहमद,मो कय्यूम,मो.सलीम आदि की फसल जलकर राख हो गई। क्षेत्र के अरुण प्रकाश सिंह, सूरज मिश्र,रोहित सिंह,जनमेजय सिंह,अफसार अहमद,दीपू सिंह,अवनीश मिश्र कहते हैं की यह जनप्रतिनिधियों की उदासीनता का परिणाम है।

यह भी पढ़ें: उन्नाव: सड़क हादसों में दो की हुई मौत, दर्जन भर लोग हुए घायल

ताजा समाचार

Kanpur News: सेंट्रल स्टेशन की बदहाली की कहानी, भीषण गर्मी में यात्रियों को न पंखा और न पानी
बिना अनुमति के जैकी श्रॉफ के नाम, तस्वीर और आवाज का इस्तेमाल करना पड़ेगा महंगा, दिल्ली HC ने लगाई रोक
समर वैकेशन का बना रहे हैं प्लान, अपने बैकपैक में इन चीजों को रखना न भूलें
खटीमा: सेवानिवृत्त फौजी के मकान से लाखों की नकदी और जेवरात चोरी
बाराबंकी: डीएम-सीडीओ की पहल लाई रंग, तीन माह में बढ़े 25,964 वोटर, अब जिले में हुए कुल इतने मतदाता
Kanpur: गंगा में गिर रहे अनटैप्ड सीवेज नाले, बायोरेमिडिएशन न होने से नदी के जल को कर रहे दूषित, इन घाटों पर हो रही लापरवाही