Bareilly News: क्रॉसिंग स्टेशन बनने के बाद भी नहीं सुधरी दोहना की हालत, शौचालय तक की नहीं है सुविधा

महिला स्टाफ की तैनाती होने के बावजूद यहां शौचालय तक नहीं

Bareilly News: क्रॉसिंग स्टेशन बनने के बाद भी नहीं सुधरी दोहना की हालत, शौचालय तक की नहीं है सुविधा

दोहना स्टेशन

बरेली, अमृत विचार। इज्जतनगर मंडल के प्रमुख स्टेशनों का अमृत भारत योजना के तहत विकास किया जा रहा है लेकिन छोटे स्टेशनों की अनदेखी की जा रही है। क्रॉसिंग स्टेशन बनने के दो साल बाद भी दोहना रेलवे स्टेशन की हालत में भी सुधार नहीं आया है। यहां शौचालय तक की सुविधा नहीं है।

भोजीपुरा में दोहना रेलवे स्टेशन दो साल पहले तक हॉल्ट हुआ करता था। क्रासिंग स्टेशन बनने के बाद यहां स्टाफ की तैनाती की गई। मौजूदा स्थिति में ऑपरेटिंग, सिग्नल, रेलपथ, इंजीनियरिंग मिलाकर तकरीबन 20 से 25 लोगों का स्टाफ है। इनमें ऑपरेटिंग विभाग का महिला स्टाफ भी है, जिनके लिए सबसे बड़ी समस्या शौचालय की बनी हुई है। 

इंजीनियरिंग विभाग ने छह महीने पहले दिसंबर में शौचालय का निर्माण शुरू कराया, लेकिन केवल दीवारें खड़ी करने के साथ टैंक का गड्ढा खोदकर छोड़ दिया गया। वहीं इंजीनियरिंग विभाग से जुड़े अधिकारियों के मुताबिक इज्जतनगर स्टेशन पर कार्य होना था इसलिए दोहना में काम रोक दिया गया। इस मामले में इज्जतनगर रेल मंडल सीनियर डीसीएम संजीव शर्मा ने बताया कि काम क्यों रुका है इस बात की जानकारी नहीं है, अगर ऐसा है तो जल्द काम शुरू कराया जाएगा।

अप और डाउन की 18 ट्रेनों का होता है ठहराव
दोहना स्टेशन पर अप व डाउन की 18 ट्रेनों का ठहराव होता है, जिनमें 05351 बरेली सिटी-काशीपुर मेमू, 05321 बरेली सिटी-टनकपुर डेमू, 05451 कासगंज टनकपुर मेला स्पेशल, 05369 कासगंज लालकुआं, 05329 बरेली सिटी-पीलीभीत, 05327 बरेली सिटी लालकुआं, 05339 बरेली सिटी-पीलीभीत, 05336 कासगंज-काशीपुर, 05311 बरेली सिटी-पीलीभीत डेमू, 05386 पीलीभीत-बरेली सिटी, 05335 काशीपुर-कासगंज, 05330 पीलीभीत-बरेली सिटी, 05370 लालकुआं-कासगंज, 05340 पीलीभीत-बरेली सिटी, 05352 काशीपुर-बरेली सिटी मेमू, 05452 टनकपुर-कासगंज मेला स्पेशल, 05322 टनकपुर-बरेली सिटी डेमू, 05328 लालकुआं बरेली सिटी ट्रेनें शामिल हैं।

पीने के पानी की व्यवस्था भी बदहाल
स्टेशन पर हर दिन लगभग डेढ़ से दो हजार यात्रियों का आवागमन होता है। स्टेशन पर पीने के पानी की व्यवस्था भी ठीक नहीं है और सिर्फ हैंड पंप लगे हुए हैं। इसके अलावा आए दिन अराजक तत्वों का जमावड़ा स्टेशन पर रहता है। एक नंबर से दो नंबर प्लेटफार्म पर जाने के लिए जो पाथवे बनाया गया है उस पर दिन भर लोग वाहन से घूमते रहते हैं। इस स्टेशन से प्रतिदिन रेलवे को तकरीबन 18 से 20 हजार रुपये की आय होती है।

ये भी पढे़ं- Bareilly News: एक जैसी दवाइयों को देने में बरतें सावधानी

 

 

ताजा समाचार