मुझे निशिकांत कामत की याद आती है...‘लय भारी’ के 10 साल पूरे होने पर बोले रितेश देशमुख

मुझे निशिकांत कामत की याद आती है...‘लय भारी’ के 10 साल पूरे होने पर बोले रितेश देशमुख

मुंबई। 'लय भारी' फिल्म के इस महीने एक दशक पूरा होने पर अभिनेता-प्रोड्यूसर रितेश देशमुख ने कहा कि वह अपने मित्र निशिकांत कामत को याद करते हैं जिनकी दूरदृष्टि ने फिल्म को ब्लॉकबास्टर सफलता दिलाने में मदद की। देशमुख ने 'लय भारी' के बाद 2013 में आयी फिल्म 'बालक-पालक' से मराठी फिल्मों में बतौर प्रोड्यूसर शुरुआत की। उन्होंने ‘लय भारी’ से मराठी फिल्मों में अभिनय की दुनिया में पदार्पण किया था। कामत द्वारा निर्देशित यह फिल्म 11 जुलाई 2014 को सिनेमाघरों में रिलीज हुई और बॉक्स ऑफिस पर हिट साबित हुई। 

देशमुख ने एक साक्षात्कार में कहा, मुझे अपने प्रिय मित्र और निर्देशक निशिकांत कामत की याद आती है। उनकी ही दूरदर्शिता थी जिसके कारण फिल्म एक नए स्वरूप में सामने आयी। यह मेरी पहली मराठी फिल्म थी। यह एक महत्वाकांक्षी मराठी फिल्म भी थी...मैं उन्हें याद करता हूं और मुझे खुशी है कि 10 साल बाद भी इस फिल्म को याद किया जा रहा है।’’ 

मुंबई फिल्म कंपनी द्वारा निर्मित इस फिल्म में शरद केलकर, राधिका आप्टे, तन्वी आजमी और अदिति पोहांकर ने अहम भूमिका निभायी थी जबकि सुपरस्टार सलमान खान और देशमुख की पत्नी जेनेलिया डीसूजा ने फिल्म में विशेष भूमिका अदा की थी। अजय देवगन अभिनीत ‘दृश्यम’ के लिए पहचाने जाने वाले कामत का 2020 में 50 वर्ष की आयु में निधन हो गया था। 

ये भी पढ़ें : पवन सिंह और डिंपल सिंह का गाना 'रंगदारी' रिलीज, देखिए VIDEO  

ताजा समाचार

हल्द्वानी: बिजली विभाग के अधिशासी अभियंता व निवर्तमान पार्षद के बीच विवाद ने पकड़ा तूल
Kanpur: बढ़ा हुआ बिजली का बिल आने से उपभोक्ता परेशान; समस्या दूर करने के लिए केस्को ने लगाए कैंप, अब तक आईं इतनी शिकायतें...
यह “कुर्सी बचाओ” बजट है.., विपक्ष ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- किसानों को छल रही सरकार
बरेली: पहाड़ों पर मौज मस्ती लिए बाइक चोरी करने का शौक...2 गिरफ्तार, सिर्फ 5 हजार में बेच देते थे बाइक
Supreme और High Court के न्यायाधीशों की सेवानिवृति उम्र बढ़ाने का कोई विचार नहीं: सरकार 
Kanpur: पांच वर्ष तक के बच्चों को निमोनिया से बचाव के लिए चलेगा 'सांस' अभियान; सौ से अधिक डॉक्टरों और स्टाफ नर्सों को मिलेगा प्रशिक्षण