काशीपुर: लक्ष्य हासिल करने में अधिकारियों के छूट रहे पसीने

काशीपुर: लक्ष्य हासिल करने में अधिकारियों के छूट रहे पसीने

अरुण कुमार, अमृत विचार, काशीपुर। ऊर्जा निगम बकाया वसूली अभियान युद्धस्तर पर छेड़े हुए हैं, लेकिन लक्ष्य हासिल करने के लिए विभागीय अधिकारियों के पसीने छूट रहे हैं। फरवरी में अब तक 62 करोड़ में से महज 22 करोड़ से अधिक की ऑफलाइन वसूली की जा सकी है। उपभोक्ताओं को राहत देने और वसूली अभियान में …

अरुण कुमार, अमृत विचार, काशीपुर। ऊर्जा निगम बकाया वसूली अभियान युद्धस्तर पर छेड़े हुए हैं, लेकिन लक्ष्य हासिल करने के लिए विभागीय अधिकारियों के पसीने छूट रहे हैं। फरवरी में अब तक 62 करोड़ में से महज 22 करोड़ से अधिक की ऑफलाइन वसूली की जा सकी है। उपभोक्ताओं को राहत देने और वसूली अभियान में तेजी लाने को लेकर ऊर्जा निगम विभिन्न क्षेत्रों में शिविर लगा रहा है। बावजूद इसके बकाया जमा नहीं करने वाले उपभोक्ताओं की बत्ती गुल हो सकती है।

दरसअल यूपीसीएल मुख्यालय ने काशीपुर डिवीजन को जनवरी में करीब 50 करोड़ रुपये बकाया राजस्व वसूली का लक्ष्य दिया था लेकिन विभागीय अधिकारी लक्ष्य पार करने से कुछ कदम दूर रह गए और 48 करोड़ 15 लाख वसूल सके हैं। फरवरी में 62 करोड़ 75 लाख रुपये बकाया राजस्व वसूलने का लक्ष्य दिया गया है।

इसमें 14 करोड़ 81 लाख रुपये पिछले महीनों का भी है, जिसे वसूला नहीं जा सका है। 18 फरवरी तक विभागीय अधिकारी मात्र 22 करोड़ 97 लाख रुपये ही ऑफलाइन रूप से वसूल सके हैं और इस महीने के मात्र आठ दिन शेष है। विभागीय अधिकारियों ने उपभोक्ताओं को राहत देने और वसूली अभियान में तेजी लाने के लिए शिविर लगाने शुरू कर दिए हैं।

शनिवार को वैशाली कॉलोनी, रम्पुरा, खरमासा, अजीतपुर, बांसखेड़ा, बघेलेवाला में शिविर लगाए जाएंगे, जहां उपभोक्ता अपना बिजली बिल जमा कर सकते हैं। बावजूद इसके बकाया बिजली बिल जमा नहीं करने वाले उपभोक्ताओं की बत्ती गुल हो सकती है। इसके अलावा विभाग ने बकायदार सरकारी विभागों को भी बिजली बिल निर्गत कर दिए हैं।

एसडीओ स्तर पर भी दिया गया लक्ष्य
काशीपुर। एई राजस्व मदनलाल ने बताया कि काशीपुर डिवीजन में करीब 72 हजार उपभोक्ता पंजीकृत हैं। राजस्व वृद्धि के लिए फरवरी में 62.75 करोड़ में से एसडीओ (शहर) को 14 करोड़ 22 लाख और एसडीओ (ग्रामीण) को 48 करोड़ 53 लाख का लक्ष्य दिया गया है। ग्रामीण क्षेत्र में उद्योग अधिक स्थापित हैं। इस कारण ग्रामीण क्षेत्र का लक्ष्य अधिक है।

फरवरी में काशीपुर डिवीजन को 62 करोड़ 75 लाख का लक्ष्य मिला है। 18 फरवरी तक 22 करोड़ 97 लाख रुपये ऑफलाइन वसूले जा चुके हैं। उपभोक्ताओं की सहायता के लिए शिविर भी लगाए जा रहे हैं। 31 मार्च तक घरेलू, वाणिज्य, कृषि कनेक्शन, 75 किलोवाट तक के कनेक्शन पर सरचार्ज माफ किया जा रहा है। बकाया जमा नहीं करने वाले उपभोक्ताओं के कनेक्शन काटे जा रहे हैं।

– मदनलाल, सहायक अभियंता (राजस्व), विद्युत वितरण खंड, काशीपुर

Post Comment

Comment List