Auraiya: चालक व क्लीनर की हत्या कर ट्रक लूटने वाले गिरोह के पांच सदस्य गिरफ्तार, मुठभेड़ में दो के पैर में लगी गोली

Auraiya News औरैया में बेला पुलिस ने पांच आरोपियों को किया गिरफ्तार।

Auraiya: चालक व क्लीनर की हत्या कर ट्रक लूटने वाले गिरोह के पांच सदस्य गिरफ्तार, मुठभेड़ में दो के पैर में लगी गोली

Auraiya News औरैया में ड्राइवर व क्लीनर की हत्या कर ट्रक लूटने वाले पांच आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। मुठभेड़ में दो बदमाशों के पैर में गोली लगने से घायल हो गए है। पुलिस अभिरक्षा में दोनों बदमाशों को बिधूना सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा है।

औरैया, अमृत विचार। Auraiya News बेला थाना क्षेत्र के पुर्वा सुजान के जंगल में पुलिस ने घेराबंदी करते हुए बीती रात्रि एक मुठभेड़ के दौरान ड्राइवर व क्लीनर की हत्या कर ट्रक लूटने वाले गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार कर लिया है। मुठभेड़ में दो बदमाशों के पैर में गोली लगी है। घायल बदमाशों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र  बिधूना में भर्ती कराया गया। जहां पर एसपी ने दोनों बदमाशों से  घटना के सम्बन्ध में पूछताछ की है।

एसपी चारु निगम ने बताया कि 23 नवम्बर को लगभग 11-12 बजे थाना बेला क्षेत्र में एक लावारिस ट्रक खड़े होने की सूचना मिली थी। बताया गया कि कंटेनरनुमा ट्रक झांसी जिले के कस्बा मऊरानीपुर की एक आढ़त से मूंगफली लादकर गुजरात के लिए जा रहा था। जो शिवपुरी मध्य प्रदेश में रात्रि भर रूका। सुबह उसका जीपीएस बंद हो गया।

जिसके बाद ट्रांसपोर्टर व परिजनों का चालक व क्लीनर से सम्पर्क नहीं हो पाया। ट्रक 23 नवम्बर को बेला क्षेत्र में मिला था। बताया गया कि 20 नवम्बर को ट्रक के साथ गये, चालक व क्लीनर लापता हैं और उसमें लदी मूंगफली के बिना खड़ा मिला है। एसपी ने बताया कि जिस पर थाना बेला में मुकदमा पंजीकृत किया गया।

साथ ही एएसपी व सीओ क्राइम के निर्देशन में टीमें रवाना की। जहां जहां ट्रक गया चप्पे-चप्पे पर जितने कैमरे थे, सभी को चेक किया गया और सर्विलांस के पीटीएस उठाये। सात दिन तक काम किया गया और सभी अपराधियों को चिन्हित किया गया।

बताया कि बीती शाम मुखबिर से सूचना मिली कि जिन अपराधियों को चिन्हित किया गया है। उनमें से पांच अपराधी पुर्वा सुजान के जंगल में रखे मूंगफली के कट्टे (बोरे) दो बार बेंच चुके हैं। जो बचे हैं उन्हें बेचने के लिए आज रात्रि आखिरी बार लेके जाने वाले हैं।

इस सूचना पर सहार, ऐरवाकटरा, बेला, कुदरकोट व एसओजी की तीन टीम लगाकर घेराबंदी कर आरोपियों को बुलाया तो उस्मान व वारिस ने अपाचे बाइक पर बैठकर भागने का प्रयास किया। पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो उन्होंने पुलिस पर तीन फायर कर दिये। जिस पर पुलिस ने पांच जवाबी फायर किये। जो दोनों अभियुक्त के पैर में लगे और वह वहीं गिर गये। जिन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बिधूना में भर्ती कराया गया है।

बताया कि उक्त के अलावा तीन और अभियुक्त गिरफ्तार किये गये हैं। एसपी ने बताया कि उस्मान व वारिस चाचा भतीजा हैं। इन पर पूर्व में गैंगस्टर हत्या डकैती के अभियोग पंजीकृत हैं। कई मामले इन्होंने किये हैं। ट्रक के अलावा एक और ट्रक के बारे में बताया कि वह कानपुर से दिल्ली के लिए लदा था, जिसमें भी चालक की हत्या कर दी थी।

जिसका कहां मुकदमा है  इन्हें  पता नहीं है। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि शिवपुरी में बहलाकर ड्राइवर को नीचे उतार लिया और गला दबाकर हत्या कर दी। जबकि उस्मान के साथी अल्ताफ ने क्लीनर की गला दवा के हत्या की है। जिसके बाद मोबाइल व जीपीएस नदी में डाल दिये व दोनों के शवों को जंगल में फेंक देने की बात बतायी है।

 

Post Comment

Comment List