छात्रों की कलात्मक क्षमताओं का पता लगाने के लिए बनाया स्कूल ऑफ एक्सीलेंस ने मंच : आतिशी

छात्रों की कलात्मक क्षमताओं का पता लगाने के लिए बनाया स्कूल ऑफ एक्सीलेंस ने मंच : आतिशी

नई दिल्ली। दिल्ली की शिक्षा मंत्री आतिशी ने शनिवार को कहा कि डॉ बी आर आंबेडकर स्कूल ऑफ स्पेशलाइज्ड एक्सीलेंस (एएसओएसई) ने छात्रों की कलात्मक क्षमताओं को उभारने और उनके विचारों की कलात्मक अभिव्यक्ति के लिए एक मंच बनाया है।

ये भी पढ़ें - कश्मीर में बेरोजगारी बढ़ने से प्रवासी श्रमिकों की बढ़ी परेशानी 

आतिशी ने बीकानेर हाउस में ‘लहर’ नामक कला प्रदर्शनी में भाग लेने के दौरान कहा कि इस आयोजन ने न केवल युवा कलाकारों की प्रतिभा को उजागर किया, बल्कि स्कूली पाठ्यक्रम में कला शिक्षा को शामिल करने के महत्व को भी रेखांकित किया। उन्होंने कहा, “बी आर आंबेडकर स्कूल ऑफ स्पेशलाइज्ड एक्सीलेंस ने छात्रों की कलात्मक क्षमताओं का पता लगाने और उनके विचारों की कलात्मक अभिव्यक्ति के लिए एक मंच बनाया है।

इस प्रदर्शनी ने न केवल इन युवा कलाकारों की प्रतिभा को उजागर किया, बल्कि रचनात्मकता को बढ़ावा देने के लिए कला शिक्षा को हमारे पाठ्यक्रम में शामिल करने के महत्व को भी रेखांकित किया।” प्रदर्शनी का आयोजन एएसओएसई (परफॉर्मिंग एंड विजुअल आर्ट्स) के 10वीं और 11वीं कक्षा के 370 से अधिक छात्रों द्वारा उनके द्वारा बनाई गई कलाकृति को प्रदर्शित करने के लिए किया गया था।

ये भी पढ़ें - केंद्र के अध्यादेश के खिलाफ महारैली में एक लाख लोगों के शामिल होने की उम्मीद : आम आदमी पार्टी

Post Comment

Comment List