दिल्ली कांग्रेस ने किया भाजपा सरकार के खिलाफ प्रतिज्ञा रैली का आयोजन, केंद्र सरकार के खिलाफ की नारेबाजी 

दिल्ली कांग्रेस ने किया भाजपा सरकार के खिलाफ प्रतिज्ञा रैली का आयोजन, केंद्र सरकार के खिलाफ की नारेबाजी 

नई दिल्ली। कांग्रेस की दिल्ली इकाई ने केंद्र की भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार और दिल्ली के उसके सात सांसदों के खिलाफ अपने 'जवाब दो, हिसाब दो' अभियान के तहत रविवार को 'प्रतिज्ञा' रैली आयोजित की।

दिल्ली कांग्रेस अध्यक्ष अरविंदर सिंह लवली के नेतृत्व में हुई इस रैली में बड़ी संख्या में कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता करोल बाग के हाथी वाला चौक पर एकत्र हुए और केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। रैली में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अजय माकन और अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के दिल्ली प्रभारी दीपक बाबरिया भी मौजूद थे।

लवली ने एक न्यूज एजेंसी से कहा कि रैली दिल्ली में विभिन्न मुद्दों को उजागर करने के लिए आयोजित की गई थी, जिसमें सुंदर नर्सरी और दिल्ली पब्लिक स्कूल के बीच झुग्गी बस्ती में मकानों को ढहाया जाना भी शामिल था।

लवली ने कहा, ‘‘निजामुद्दीन में 200 से अधिक परिवारों ने अपने घर सिर्फ इसलिए खो दिए क्योंकि दिल्ली सरकार के वकील ने अदालत में झुग्गीवासियों के मामले को गलत तरीके से पेश किया।’’ इससे पहले, लवली ने उक्त स्थल का दौरा किया था और जीआरएपी-तीन के क्रियान्वयन के बावजूद सुंदर नर्सरी में 250 झुग्गी झोपड़ी ढहाये जाने के लिए केंद्र और दिल्ली सरकार की आलोचना की।

जीआरएपी-तीन सभी निर्माण और विध्वंस गतिविधियों पर रोक लगाता है। सुंदर नर्सरी और दिल्ली पब्लिक स्कूल के बीच झुग्गी बस्ती में लगभग 1,000 से 1,500 लोग रहते थे, जिनमें से अधिकांश कचरा बीनने वाले, रेहड़ी-पटरी वाले, घरों में घरेलू सहायक के तौर पर कार्य करने वाले, ​​श्रमिक और छोटे व्यापारी थे, जिसे पिछले सप्ताह एक अदालत के आदेश के बाद एक अभियान में ढहा दिया गया था। 

ये भी पढ़ें - सीओपी28: जलवायु परिवर्तन मुद्दों से निपटने के लिए बड़े बदलाव पर जोर दे सकता है भारत

Online Jobs Apply