हल्द्वानी: Google संभालेगा तीन शहरों का यातायात, हाथ में होगा हर अपडेट

हल्द्वानी: Google संभालेगा तीन शहरों का यातायात, हाथ में होगा हर अपडेट

सर्वेश तिवारी, हल्द्वानी, अमृत विचार। संकरी होती सड़कें, बढ़ते यातायात के बोझ और पुलिस की कमी को देखते हुए पुलिस गूगल के साथ करार करने जा रही है। इस करार के बाद राज्य के तीन बड़े शहर देहरादून, हल्द्वानी और हरिद्वार की यातायात व्यवस्था गूगल के हाथों में होगी। ये व्यवस्था दिल्ली की तर्ज पर लागू होगी। पुलिस जल्द ही इसको लेकर गूगल से करार करने जा रही है। 

बता दें कि राज्य में देहरादून, हल्द्वानी और हरिद्वार तीन ऐसे बड़े शहर हैं, जहां की सड़कों पर यातायात का सर्वाधिक दबाव रहता है। खास तौर पर पर्यटन सीजन में यातायात बेपटरी हो जाता है। हरिद्वार में कुंभ के अलावा केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री और हेमकुंड साहिब के लिए यात्रा के सीजन में यातायात व्यवस्था पटरी से उतरी रहती है। ऐसे में ग्लोबल पोजीशनिंग सिस्टम (जीपीएस) की मदद से पुलिस यातायात को कंट्रोल करने की तैयारी कर रही है। 

मौजूदा वक्त में अगर सीसीटीवी को छोड़ दें तो यातायात पूरी तरह मैनुअल है। सीसीटीवी भी सिर्फ शहरों में हैं। शहर के बाहर निकलते ही या तो पुलिस या फिर खुद अपनी जिम्मेदारी पर मुसाफिर यात्रा करता है लेकिन जीपीएस सिस्टम लागू हो जाने के बाद लोग अपने मोबाइल पर यातायात का हाल जान पाएंगे। जान पाएंगे कि जिस रास्ते पर वह जा रहे हैं, उस रास्ते पर कहीं जाम तो नहीं है या फिर किसी वजह से पहाड़ी मार्ग अवरुद्ध तो नहीं है। 


दिल्ली की तर्ज पर जीपीएस सिस्टम में शहर की यातायात व्यवस्था को अपडेट करने की तैयारी कर जा रही है। अगर शहर में जाम रहा तो सूचना यातायात मुख्यालय भेज दी जाएगी। मुख्यालय अपने स्तर से गूगल से एमओयू कर रहा है। जाम की स्थिति होने पर जीपीएस पर्यटकों को बता देगा कि कौन का रूट जाम से मुक्त है। इस व्यवस्था से राज्य में लोगों को सड़क पर चलते समय किसी तरह की परेशानी नहीं उठानी पड़ेगी।
- प्रह्लाद नारायण मीणा, एसएसपी नैनीताल

ताजा समाचार

अमेरिकी अदालत का बड़ा फैसला, भारतीय कारोबारी को अपने चार भाइयों को देने होंगे 2000 करोड़ और अरबों की प्रॉपर्टी 
तमिलनाडु: रसोई गैस लीक होने से मकान में लगी आग, एक ही परिवार के तीन बच्चों की मौत 
लखनऊ: SGPGI में स्वाइन फ्लू के मिले 24 मरीज, अपोलो में भर्ती मरीज की जानकारी में जुटे डॉक्टर
यूपी में धान की हुई रिकॉर्ड खरीद!, किसानों से खरीदा गया 53.79 लाख मीट्रिक टन धान, जानिए इस बार कितना था समर्थन मूल्य?
Kanpur: दंडवत यात्रा में भक्तों का पुष्प वर्षा से हुआ स्वागत; करौली शंकर बोले- 'मोक्ष के लिए गुरू कृपा जरूरी'
आगरा: पुलिस पर अधिवक्ता की हत्या का आरोप, वकीलों ने पुतला दहन कर खोला मोर्चा
Online Jobs Apply