बरेली: बच्चों की सुरक्षा के लिए स्कूली वाहनों में मानकों का रखें ख्याल- डीएम

बरेली: बच्चों की सुरक्षा के लिए स्कूली वाहनों में मानकों का रखें ख्याल- डीएम

बरेली, अमृत विचार। जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने बुधवार को विकास भवन में सीबीएसई, आईसीएसई और यूपी बोर्ड के प्रबंधकों और प्रधानाचार्यों के साथ विकास भवन में बैठक कर स्कूली बच्चों की सुरक्षा को लेकर कड़े निर्देश दिए हैं।

उन्होंने कहा कि स्कूली बच्चों के वाहनों की सुरक्षा और मानकों का ख्याल रखा जाए। स्कूल के स्वामित्व और अनुबंधित वाहनों की फिटनेस, मार्किंग, कलर कोड, परमिट, प्रदूषण, वाहन चालक का लाइसेंस होने चाहिए। नियमों की अनदेखी पर डीएम ने कार्रवाई के आदेश दिए हैं।

उन्होंने प्रबंधक और प्रधानाचार्यों से कहा कि बच्चों को लाने और ले जाने वाले वाहन स्कूल के हों या फिर से स्कूल अनुबंधित हों। वाहनों में 25 सेमी की पीली पट्टी, स्कूल का नाम, खिड़की पर रॉड, सीसीटीवी कैमरे, मेडिकल किट, फायर सेफ्टी के प्रबंधन जरूरी हैं। डीआईओएस को निर्देश देते हुए कहा कि सभी संचालकों को स्कूली वाहनों के नियमों की सॉफ्ट कॉपी उपलब्ध कराई। 

डीएम ने सभी विद्यालय संचालकों से कहा है कि शिक्षा का अधिकार आरटीई के पात्र बच्चों को दाखिला जरूर दें। बच्चों के अभिभावकों के आय प्रमाण पत्र पर संदेह हो तो जांच करा लें। डीएम ने दिव्यांगता वाले बच्चों को शिक्षा देने के लिए शिक्षक, प्रशिक्षक रखने के आदेश दिए। 18 वर्ष की आयु पूरी करने वाले छात्रों का नाम वोटर लिस्ट में शामिल कराने के आदेश दिए।

ऑपरेशन त्रिनेत्र के तहत विद्यालय के मुख्य द्वार और अन्य जरूरी स्थानों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश दिए। इस दौरान एडीएम वित्त एवं राजस्व संतोष बहादुर सिंह, डीआईओएस देवकी सिंह, एसपी यातायात राम मोहन सिंह, एसडीएम नवाबगंज नहने राम, एआरटीओ मौजूद रहे।

ये भी पढे़ं- बरेली: नन्हें लंगड़ा पर पिट एनडीपीएस एक्ट में कार्रवाई, आरोपी के खिलाफ दर्ज हैं कई मुकदमे

 

Online Jobs Apply