रामनगर: जंगली जानवरों के आतंक से परेशान लोगों ने दिया विधायक कार्यालय पर धरना

रामनगर: जंगली जानवरों के आतंक से परेशान लोगों ने दिया विधायक कार्यालय पर धरना

रामनगर, अमृत विचार। गुरुवार को रामनगर में संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले सैकड़ो ग्रामीणों ने रामनगर विधायक दीवान सिंह बिष्ट के कार्यालय पहुंचकर धरना देते हुए नारेबाजी करने के साथ ही 10 सूत्रीय मांगों का मांग पत्र विधायक को सौंपा।

इस दौरान हुई सभा में वक्ताओं ने बोलते हुए कहा कि विभिन्न ग्रामीण इलाकों में आज जंगली जानवरों का आतंक इतना बढ़ गया है कि यहां रहने वाले ग्रामीण घरों में कैद होकर अपनी जिंदगी गुजर रहे हैं। 

तो वहीं हाथी और बंदरों द्वारा भी उनकी खेती को उजाड़ा जा रहा है उन्होंने कहा कि 2 दिन पूर्व कॉर्बेट प्रशासन ने ढेला क्षेत्र में एक बैग को ट्रेंकुलाइज करने की कार्रवाई की थी, ग्रामीणों का आरोप है कि इस क्षेत्र में चार महिलाओं को बाघ द्वारा अपना निवाला बनाया जा चुका है लेकिन पार्क प्रशासन द्वारा पकड़े गए इस बाघ को आदमखोर घोषित नहीं किया गया है।

विधायक दीवान सिंह बिष्ट ने ग्रामीण क्षेत्रों में वन्य जीवों व बाघ के आतंक की घटना को गंभीरता से लेते हुए कहा कि उनके द्वारा संबंधित अधिकारियों से वार्ता की जा चुकी है, प्रदेश सरकार से संबंधित जो मांगे हैं उन्हें सरकार के समक्ष रखा जाएगा तथा आगामी विधानसभा सत्र में इस मुद्दे को उठाया जाएगा।

कहा कि बाघ के हमले में घायल अंकित के इलाज को लेकर सरकार से वार्ता कर हर संभव मदद की जाएगी। इस दौरान धरने में धरना प्रदर्शन कार्यक्रम में ललित उप्रेती, मुनीष कुमार, आनंद नेगी, सोवन तड़ियाल, सरस्वती जोशी, संजय मेहता, सुमित, उर्मिला, ललिता रावत, उबैदुल हक, प्रताप सिंह बोरा, बसंत कुमार, हीरा खत्री, बसंत कुमार, विमला, कमल नेगी, प्रभात ध्यानी, मनमोहन अग्रवाल, मौ. आसिफ, समेत बड़ी संख्या में लोगों ने भागीदारी की।

ताजा समाचार