बरेली: लो प्रोडक्शन कॉस्ट और हाई डिजीस रेजिस्टेंस में अव्वल कैरिब्रो विशाल

बरेली: लो प्रोडक्शन कॉस्ट और हाई डिजीस रेजिस्टेंस में अव्वल कैरिब्रो विशाल

बरेली, अमृत विचार। केंद्रीय पक्षी अनुसंधान संस्थान के वैज्ञानिकों ने कम उत्पादन लागत और उच्च रोग प्रतिरोधकता वाली मुर्गियों की नई प्रजाति विकसित की है। इसके परिणाम फार्म पर देखने के लिए कुछ किसानों को प्रयोगात्मक रूप से पालन करने को दिया गया।

संस्थान के प्रधान वैज्ञानिक डाॅ. जयदीप रोकड़े ने बताया कि इस प्रजाति को तैयार करने के पीछे संस्थान का उद्देश्य रहा कि ब्रायलर की एक ऐसी प्रजाति का विकास किया जाए, तो नियमित रूप से बाजार में मिलने वाली ब्रायलर से अधिक योग्यता रखने वाली और दाम में कम हो।

इसके लिए कैरीब्रो विशाल का विकास किया गया। ये उष्णकटिबंधीय जलवायु में उच्च प्रदर्शन सुविधाओं के साथ विकास, फीड दक्षता, रहने योग्यता, मांस की गुणवत्ता में भी उत्कृष्ट है। उन्होंने बताया कि संस्थान के फील्ड ट्रायल के दौरान एक दिन की उम्र में शरीर का वजन 43-48 ग्राम देखा गया।

वहीं छह सप्ताह में शरीर का वजन 1650 से 1700 ग्राम और सात सप्ताह में 2000 से 2150 ग्राम तक देखा गया। जो मांस उत्पादन में निर्धारित मानकों से 30 प्रतिशत अधिक है। वहीं, सफेद रंग होने से भी किसानों की पहली पसंद बनी हुई है। निदेशक डा. अशोक कुमार तिवारी ने बताया कि किसानों की ओर से कैरीब्रो विशाल के लिए सकारात्मक फीडबैक मिल रहा है। किसानों के लिए ये मांस उत्पादन में बेहद अच्छा विकल्प है।

ये भी पढे़ं- बरेली: शहर से लेकर देहात तक धूमधाम से मनाया गया गोवर्धन पूजा

Online Jobs Apply