आज और अधिक इजरायली बंधकों को रिहा करेगा हमास, जो बाइडेन ने जताई उम्मीद

आज और अधिक इजरायली बंधकों को रिहा करेगा हमास, जो बाइडेन ने जताई उम्मीद

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने उम्मीद जतायी है कि फिलिस्तीनी आंदोलन हमास अगले कुछ दिनों में और अधिक इजरायली बंधकों को रिहा करेगा। बाइडेन ने शुक्रवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा, “जैसा कि मैंने कहा, आज की रिहाई एक प्रक्रिया की शुरुआत है।

हम उम्मीद करते हैं कि कल और अधिक बंधकों को रिहा किया जाएगा। उसके अगले दिन और अधिक और उसके अगले दिन और अधिक बंधकों को रिहा किया जाएगा। हम उम्मीद करते हैं कि अगले कुछ दिनों में बहुत सारे बंधकों को छोड़ दिया जाएगा। हम उन सभी को भी याद करते हैं जिन्हें अभी भी हिरासत में रखा गया है और उनकी रिहाई के लिए भी काम करने की अपनी प्रतिबद्धता दोहराते हैं।'' 

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि इज़रायल और फिलिस्तीन के बीच संघर्ष को हल करने के लिए नए प्रयासों की आवश्यकता है। यह पूछे जाने पर कि क्या ऐसी संभावना है कि इज़रायल और हमास के बीच मानवीय संघर्ष विराम की अवधि को बढ़ाया जा सकता है, तो उसके जवाब में उन्होंने कहा, “संभावनाएं हकीकत में हैं।” 

इजराइल को शर्तों के साथ सैन्य सहायता देने का 'विचार उचित'
अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने शुक्रवार को कहा कि उनका मानना है कि इजराइल को कुछ शर्तों के साथ सैन्य सहायता देने का ‘‘विचार उचित’’ है। बाइडन ने साथ ही उम्मीद जताई कि गाजा के साथ युद्ध विराम चार दिन से अधिक चलेगा। राष्ट्रपति ने मैसाचुसेट्स के नानटुकेट में पत्रकारों से कहा कि वह कुछ बंधकों की रिहाई से उत्साहित हैं और उम्मीद करते हैं कि ऐसा आगे भी होगा।

उन्होंने कहा, ‘‘ हम और बंधकों की कल रिहाई की उम्मीद करते हैं, अगले दिन इससे अधिक तथा उसके भी अगले दिन और अधिक बंधकों की रिहाई की उम्मीद है।’’ कतर के अनुसार रिहा किए गए बंधकों में इजराइल के 13, थाईलैंड के 10 और फिलीपीन का एक व्यक्ति शामिल है। बदले में इजराइल ने 39 फलस्तीनियों को जेल से रिहा किया। बाइडन ने कहा कि इजराइल को शर्त के साथ सैन्य सहायता देने का ‘‘विचार उचित है लेकिन मुझे नहीं लगता कि अगर मैंने शुरुआत से ऐसा किया होता तो हम कभी वहां पहुंच पाते, जहां आज हम हैं।’’ हालांकि ये शर्तें क्या होंगी, इसके बारे में उन्होंने कोई जानकारी नहीं दी।

ये भी पढ़ें:- इज़राइल सेना ने उत्तरी गाजा में फिलिस्तीनियों की वापसी पर लगाई रोक, कहा- 'यह एक युद्ध क्षेत्र है अभी आप अपने घर न लौटें'

Online Jobs Apply