दिल्ली हवाई अड्डा: टैक्सीवे के इस्तेमाल से बचेंगे 150-180 करोड़ रुपये

दिल्ली हवाई अड्डा: टैक्सीवे के इस्तेमाल से बचेंगे 150-180 करोड़ रुपये

नई दिल्ली। दिल्ली हवाई अड्डे पर बने ईस्टर्न क्रॉस टैक्सीवे का इस्तेमाल करने से एयरलाइंस को सालाना लगभग 150-180 करोड़ रुपये की बचत हो सकती है। हवाई अड्डे के एक शीर्ष अधिकारी ने यह अनुमान जताया है।

हवाई अड्डे का परिचालन करने वाली कंपनी दिल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड (डॉयल) के मुख्य कार्यपालक अधिकारी विदेह कुमार जयपुरियार ने कहा कि अगर 10-15 प्रतिशत विमान भी इस टैक्सी का इस्तेमाल करते हैं तो करीब 55,000 टन कार्बन-डाई ऑक्साइड की बचत हो सकती है। हवाईपट्टी पर जाने में लगने वाले समय और ईंधन खपत में कमी आने से एयरलाइंस 150 करोड़ रुपये से लेकर 180 करोड़ रुपये तक की बचत कर सकती हैं।

इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर प्रतिदिन 1,500 विमानों की आवाजाही होती है। इस हवाई अड्डे पर कुछ महीने पहले ही 2.1 किलोमीटर लंबा ईस्टर्न क्रॉस टैक्सीवे (ईसीटी) बना है जो चौड़े आकार वाले विमानों को भी संभाल सकता है।

जयपुरियार ने कहा कि ईसीटी के माध्यम से उत्तर में उतरने और दक्षिण में आने वाले विमान के लिए औसतन सात-आठ मिनट का समय बचता है। ईसीटी हवाई अड्डे के पूर्वी हिस्से में उत्तरी और दक्षिणी हवाई क्षेत्रों को जोड़ता है।

ये भी पढ़ें - अप्रैल-अक्टूबर में कोयला आयात चार प्रतिशत घटकर 14.8 करोड़ टन रहा

FOOTER:

ताजा समाचार

Shahjahanpur: पुलिस ने नहीं सुनी फरियाद...पीड़ित ने SP ऑफिस में खुद को लगाई आग, मची अफरा-तफरी
Kanpur News: कंकालों में लिखे मिले मेडिकल लिट्रेचर के शब्द...पोस्टमार्टम होने के बाद पुलिस भी हाथ खाली
Kanpur News: सात करोड़ की इकलौती हाइड्रोलिक मशीन नौ साल से फांक रही धूल...अब फिर होगी मरम्मत
अमेठी: पुलिसकर्मियों पर छेड़छाड़, अभद्रता का आरोप, एसपी ने पुलिस क्षेत्राधिकारी को सौंपी जांच
जहरखुरानी गिरोह का शिकार हुए थे लापता बैंक मैनेजर, रामपुर के अस्पताल में मिले भर्ती...इलाज के लिए दिल्ली ले गए परिजन
सीएम योगी ने खराब मौसम से सर्वाधिक प्रभावित नौ जिलों को जारी किए 23 करोड़ रुपए
Online Jobs Apply