Etawah: मिट्टी का टीला ढहने से पांच बच्चों के पिता की दबकर मौत; घर की लिपाई-पुताई के लिए मिट्टी खोदने गया था युवक

Etawah: मिट्टी का टीला ढहने से पांच बच्चों के पिता की दबकर मौत; घर की लिपाई-पुताई के लिए मिट्टी खोदने गया था युवक

इटावा (भरथना), अमृत विचार। भरथना कोतवाली ग्रामीण क्षेत्र के ग्राम वाहरपुरा में एक परिवार में सोमवार की सुबह 7 बजे उस समय कोहराम मच गया, जब अपने कच्चे घर की लिपाई-पुताई करने के लिए पियरा मिट्टी खुदने के दौरान पांच बच्चों के पिता सलीम अली उर्फ नंदू 35 वर्ष पुत्र आमीन अली की मिट्टी का टीला ढहने से मिट्टी के नीचे दबने से मौके पर ही मौत हो गई।

मिट्टी 2

नंदू की मौत की जानकरी उसके छोटे भाई नशीम अली को तब हो सकी, जब वह बड़े भाई द्वारा खोदी गई पियरा मिट्टी को पुनः उठाने निर्माणाधीन कन्नौज इटावा नहर पुल के निकट पहुंचा, जहां बड़े भाई नंदू को मिट्टी के ढेर में दबा देख चीखने चिल्लाने लगा। उसकी चीख-पुकार सुन निर्माणाधीन नहर पुल की लेवर कर्मचारी दौड़कर मौके पर पहुंचे जिन्होंने मिट्टी के ढेर में दबे नंदू को निकाल कर इलाज हेतु भरथना सामुदायक स्वास्थ्य केंद्र भेजा, जहां चिकित्सकों ने नंदू को मृत घोषित कर दिया।

नंदू की मौत की खबर मिलते ही उसकी पत्नी रूवीना बेगम, पुत्रियां नसरीन बनो 12, जोया बानो 11, सोनम बनो 9, शबनम बानो 5 वर्ष व इकलौता पुत्र साबिर अली बुजुर्ग मां बानो बेगम,पिता आमीन अली,छोटे भाई सलीम अली, सईम अली, नसीम अली,रहीस अली सहित अन्य परिजनों में कोहराम मच गया।

घटना की सूचना पर क्षेत्रीय लेखपाल ने घटना स्थल का निरीक्षण कर प्रशासनिक अधिकारियों को अवगत कराया है। मृतक अपने परिवार का इकलौता कमाऊ व्यक्ति था। वह अपने परिजनों का पल्लेदारी करके भरण-पोषण करता था।

यह भी पढ़ें- कानपुर: सदन है या धर्मशाला: सदन में कंबल व बिस्तर लेकर ही पहुंच गई पार्षद; डेरा डालने की जिद पर अड़ी...

ताजा समाचार

रायबरेली: बहन से छेड़छाड़ का विरोध करने पर भाई को सड़क पर पीटा 
रामपुर : आचार संहिता का उल्लंघन करना पड़ा भारी, बसपा प्रत्याशी समेत तीन पर केस
Kanpur: सीएस क्षेत्र से जुड़े स्टार्टअप भी शहर से होंगे शुरू; भारतीय कंपनी सचिव संस्थान के छात्र-छात्राओं ने IIT में समझीं बारीकियां
बहराइच: 46 लाख के चेक के लिए वर्षों से भटक रहे थे मृतक के माता-पिता, डीएम ने एक घंटे में दिलाया Cheque
Etawah: कोयला लदी ट्रेन की दो बोगियों से उठा आग का धुआं...कानपुर जा रही थी, फायर कर्मियों ने पाया काबू
गोंडा: बड़ी बहन ने दिया कुंवर विक्रम की अर्थी को कंधा, चाचा ने दी मुखाग्नि