खटीमा: पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या की, दोनों गिरफ्तार

खटीमा: पत्नी ने प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या की, दोनों गिरफ्तार

खटीमा, अमृत विचार। सप्ताह भर से लापता एक युवक की प्रेम प्रसंग के चलते हत्या का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। हत्या को उसकी पत्नी ने ही अपनी प्रेमी के साथ मिलकर अंजाम दिया। शक होने पर पुलिस ने एक नाले के पास मिट्टी में दबाए शव को बरामद कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार …

खटीमा, अमृत विचार। सप्ताह भर से लापता एक युवक की प्रेम प्रसंग के चलते हत्या का सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। हत्या को उसकी पत्नी ने ही अपनी प्रेमी के साथ मिलकर अंजाम दिया। शक होने पर पुलिस ने एक नाले के पास मिट्टी में दबाए शव को बरामद कर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों में छह वर्ष से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

दोनों आरोपी व मृतक थारू जनजाति समाज के हैं। बता दें कि 17 फरवरी को कुआंखेड़ा निवासी रामश्री देवी ने कोतवाली पुलिस में गुमशुदगी दर्ज कराई थी कि उसका भगीरथ राणा (28) 13 फरवरी की शाम से लापता है। परिजन तब से ही उसकी तलाश में जुटे थे।

शनिवार को रुद्रपुर से खटीमा कोतवाली पहुंची एएसपी ममता वोहरा ने पत्रकार वार्ता में हत्याकांड का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि 13 फरवरी से लापता भगीरथ राणा का शव मिट्टी में दबाया गया था जिसे पुलिस ने शनिवार की सुबह करीब 9:30 बजे सूचना मिलने पर कुआंखेड़ा गांव में नाले के किनारे से बरामद किया। परिवार वालों ने मृतक भगीरथ की पत्नी राजनंदनी का गांव के ही संकेत के साथ प्रेम प्रसंग के संबंध में अवगत कराया था। इस पर संकेत से पूछताछ में खुलासा हुआ कि दोनों ने ही हत्या को अंजाम दिया।

इसके लिए भगीरथ की पत्नी राजनंदनी ने 13 फरवरी की शाम 7:30 से आठ बजे के बीच भगीरथ को घर के पीछे बुलाया, जहां संकेत भी मौजूद था। संकेत को देखकर भगीरथ ने कहा कि पहले संकेत को यहां से हटाओ। इस बीच संकेत ने भगीरथ का गला दबाकर अधमरा कर दिया। उसके बाद दोनों उसे उठाकर पास ही नाले के किनारे ले गए और वहां ईंट से सिर पर वार कर उसकी हत्या कर दी और गड्ढा खोदकर शव को दबा दिया। मौके पर फावड़ा भी छोड़ा गया था।

पहले फावड़ा मिला तो परिजनों को शक हो गया। उन्होंने गड्ढे को थोड़ा खोदा तो उनका शक और गहरा गया। इसके बाद जब पूरा गड्ढा खोदा गया तो वहां से भगीरथ का शव बरामद हुआ। इसके बाद पुलिस को सूचना दी गई। दोनों में वर्ष 2016 से प्रेम प्रसंग चल रहा था। दो फरवरी को ही मृतक भगीरथ व संकेत में झगड़ा भी हुआ था। इसमें संकेत ने भगीरथ को देख लेने की धमकी दी थी। कड़ी पूछताछ में प्रेमी संकेत टूट गया और उसने हत्या की बात कुबूल कर ली। इस बीच सीओ भूपेंद्र सिंह भंडारी, कोतवाल नरेश चौहान, एसएसआई देवेंद्र गौरव आदि घटना स्थल पर पहुंचे और शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा।

संकेत शादी शुदा प्रेमिका को साथ रखना चाहता था
पुलिस के अनुसार आरोपी प्रेमी संकेत राणा अपनी शादीशुदा प्रेमिका राजनंदनी से कहता था कि वह पति को छोड़कर उसके पास आकर रहे। वहीं, राजनंदनी कहती थी कि पहले पति को रास्ते से हटाओ। दोनों ने चुनाव की गहमागहमी के बीच का समय चुना और 13 फरवरी की देर शाम के घर के पीछे बुलाकर वारदात को अंजाम दिया। मृतक के नशे का आदी होने पर उस पर जल्दी काबू कर उसका गला दबाकर अधमरा किया और बाद में ईंट से सिर पर वार कर दफना दिया। मृतक के परिवार में पांच वर्ष का पुत्र व ढेड़ वर्ष का पुत्र है।

पोस्टमार्टम हाउस परिसर में शोकाकुल परिजनों का जमावड़ा रहा। मृतक के पिता रमेश राणा ने बताया कि परिवार में मृतक का पांच वर्ष का पुत्र सचित, डेढ़ वर्षीय पुत्री मित्रा है। वह परिवार से अलग रहता और राजमिस्त्री का कार्य करता था। भगीरथ का एक छोटा भाई शुभम है।

शुभम दिल्ली में पीसीएस की तैयारी कर रहा है। वह भाई के लापता होने पर घर आया और लोगों के साथ अपने भाई की तलाश में जुटा था। इधर, पूर्व जिपं सदस्य नवीन जोशी, समाजसेवी राकेश राणा ने बताया कि 13 फरवरी को लापता होने के बाद 17 को कोतवाली पुलिस को तहरीर दी गई। कोतवाल नरेश चौहान ने बताया कि आरोपी मृतक की पत्नी, उसके प्रेमी के खिलाफ धारा 302, 120 बी, 201 के तहत रिपोर्ट दर्ज कर ली है। मौके पर सीओ, कोतवाल, एसएसआई, एसआई कैलाश देव समेत अनेक पुलिस अधिकारी पहुंचे।

Post Comment

Comment List

Advertisement

Advertisement