मांगें पूरी न होने पर बरेली कॉलेज के अस्थाई कर्मचारियों में रोष, आंदोलन की दी चेतावनी

मांगें पूरी न होने पर बरेली कॉलेज के अस्थाई कर्मचारियों में रोष, आंदोलन की दी चेतावनी

बरेली,अमृत विचार। बरेली कॉलेज के अस्थाई कर्मचारी लंबे समय से अपने न्यूनतम वेतन व विनियमितीकरण की मांगों को लेकर आंदोलनरत हैं। अभी तक उनकी समस्याओं का समाधान नहीं हुआ है। जिसको लेकर आज अस्थाई कर्मचारियों ने एक बैठक की। इस दौरान कर्मचारी कल्याण सेवा समिति के सचिव हरीश मौर्या ने बताया कि अभी तक अस्थाई कर्मचारियों का न्यूनतम वेतन नहीं किया गया है। साथ ही उनके विनियमितीकरण को लेकर कॉलेज प्रशासन ने अभी तक कोई कदम नहीं उठाया है।

यह भी पढ़ें- बरेली: शख्स की मौत से लोगों में आक्रोश, शव रखकर रोड किया चक्काजाम, पुलिस बल मौके पर पहुंचा

कर्मचारी नेताओं ने कहा कि हम लगातार अस्थाई कर्मचारियों की समस्याओं को लेकर पत्राचार कर चुके हैं लेकिन कोई स्थाई समाधान नहीं हुआ है। अब 26 नवंबर को संविधान दिवस के अवसर पर एक बार फिर एक संकेतिक धरना देंगे। 5 दिसंबर को बरेली आ रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ  को संबोधित ज्ञापन वन राज्यमंत्री व शहर विधायल डॉ. अरुण कुमार  को देंगे।

इसके साथ ही कर्मचारियों  ने बताया बरेली कॉलेज बरेली में अस्थाई कर्मचारियों की लगातार उपेक्षा की जा रही है। साथ ही अभी तक प्रबंधन द्वारा किए गए भ्रष्टाचार पर कोई कार्यवाही ना होने पर कर्मचारियों में  रोष है। शरद कृष्ण मुनीम ने कहा अब समय आ गया है हमें दोबारा से आंदोलन को बाध्य होना पड़ेगा। सुनील कुमार ने कहा कि बरेली कॉलेज बरेली में रिसीवर तुरंत बैठाया जाना चाहिए और इस सचिव को यहां से विदा करना ही चाहिए। बैठक का संचालन हरे राम ने किया। बैठक में सतीश कुमार, विक्रम सिंह गुर्जर, रामपाल, राजाराम, वली अहमद, दीपक, गंगा प्रसाद, ,लालूराम, रामकुमार आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- बरेली: तौकीर रज़ा ने पीएम को लिखा पत्र, राष्ट्रगान में गुजरात-मराठा की तरह अन्य राज्यों के नाम शामिल करने का अनुरोध

Post Comment

Comment List