बाराबंकी: पहले आपस में की मारपीट, फिर पहले इलाज को लेकर स्वास्थ्य कर्मियों को पीटा, चार गिरफ्तार

 बाराबंकी: पहले आपस में की मारपीट, फिर पहले इलाज को लेकर स्वास्थ्य कर्मियों को पीटा, चार गिरफ्तार

अमृत विचार हैदरगढ़, बाराबंकी। शुक्रवार की रात हैदरगढ़ थाना क्षेत्र के एक गांव में दो पक्षों में जमकर मारपीट हुई। मारपीट के बाद दोनों पक्ष इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे। यहां पहले इलाज को लेकर एक पक्ष ने चिकित्सक सहित पूरे स्टाफ को जमकर मारा पीटा। इस घटना को लेकर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सक सहित सभी कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए। देर रात चार हमलावरों की गिरफ्तारी के बाद स्वास्थ्य केंद्र  कर्मियों ने हड़ताल खत्म कर दी।

जमीनी विवाद को लेकर हुई मारपीट
जबरन जमीन लिखा लेने के मामले को लेकर हैदर गढ़ थाना अंतर्गत संतोषपुर निवासी शंकर जीत सिंह आदि का पड़ोसी गांव भेटोरा के निवासी राम सिंह आदि जमकर मारपीट हुई थी। जिसमें दोनों पक्ष चोटिल हुए थे। सीएचसी हैदरगढ़ पर इलाज के लिए शुक्रवार की रात 10:30 बजे रात आए थे। पहले राम सिंह आदि का यहां के डॉक्टरों द्वारा इलाज  किया जा रहा था।

पहले इलाज कराने को लेकर स्वास्थ्य कर्मियों को पीटा
इसी दौरान विपक्षी शंकर जीत सिंह आ गए और डॉक्टरों से कहने लगे कि पहले हमारा इलाज किया जाए। इसी बात को लेकर इमरजेंसी ड्यूटी कर रहे डॉक्टर सुनील पंकज, फार्मासिस्ट अमरीश मिश्रा, वार्ड बॉय बद्री विशाल मिश्रा और अन्य महिला स्वास्थ्य कर्मी से कहासुनी हो गई। जिस पर शंकर जीत सिंह अपने साथियों के साथ मिलकर  डॉक्टर समेत स्वास्थ्य कर्मियों की पिटाई कर दी।

Image Amrit Vichar(20)

पिटाई से आहात स्वास्थ्य कर्मियों ने ठप की इमरजेंसी सेवाएं
पिटाई के बाद स्वास्थ्य कर्मियों ने इमरजेंसी सेवाएं ठप कर दी और हड़ताल की घोषणा कर दी। जिसकी जानकारी कोतवाली प्रभारी अजय कुमार त्रिपाठी को हुई और वह तत्काल सीएचसी परिसर हैदरगढ़ आए।  स्वास्थ्य कर्मियों को समझाया बुझाया। लेकिन वह नहीं मान रहे थे। स्वास्थ्य कर्मी  हमलावरों की गिरफ्तारी पर अड़े हुए थे। स्वास्थ्य कर्मियों को स्वास्थ्य आश्वस्त कोतवाली प्रभारी  हमलावरों की गिरफ्तारी शुरू की। कुछ ही घंटे में चार हमलावरों को पकड़कर हवालात में डाल दिया। हमलावरों की गिरफ्तारी के बाद चिकित्सा व्यवस्था पहले की तरह सुचारू रूप से स्वास्थ्य कर्मियों ने शुरू कर दी। मामले की तहरीर शनिवार को डॉक्टर सुनील पंकज कोतवाली हैदरगढ़ पुलिस को दी है।


राम सिंह को बाराबंकी रेफर किया गया। वहीं पिता सुभाष सिंह भेटौरा का इलाज सीएचसी हैदरगढ़ में चल रहा है। राम सिंह को बाराबंकी रेफर किया गया वह पिता सुभाष सिंह  भेटौरा का इलाज सीएचसी  हैदर गढ़ में चल रहा है। राम सिंह की पत्नी निशा सिंह, बेटी मुस्कान और राम सिंह की बहन सीमा सिंह का इलाज सीएचसी में चल रहा है। इस संबंध में कोतवाली प्रभारी हैदरगढ़ अजय कुमार त्रिपाठी का कहना है कि चार लोगों को गिरफ्तार कर लाया गया है। इनके खिलाफ 151 की कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढ़ें:-रायबरेली: गंगा नदी के पुल की रेलिंग तोड़कर नीचे गिरा तेज रफ्तार ट्रक, ड्राइवर व क्लीनर घायल

Post Comment

Comment List