राजस्थान: सैनिक कल्याण मंत्री राजेंद्र गुढ़ा के खिलाफ मामला दर्ज, मंत्री ने उठाए CM पर सवाल 

राजस्थान: सैनिक कल्याण मंत्री राजेंद्र गुढ़ा के खिलाफ मामला दर्ज, मंत्री ने उठाए CM पर सवाल 

जयपुर। राजस्थान के सैनिक कल्याण और पंचायती राज राज्य मंत्री राजेंद्र गुढ़ा और उनके निजी सहायक सहित कुछ लोगों के खिलाफ एक व्यक्ति का अपहरण करने, उससे सादा(ब्लैंक) चेक लेने व धमकाने के आरोप में मामला दर्ज किया गया है।

ये भी पढ़ें - अडाणी समूह के मामले में JPC की मांग को लेकर 13 फरवरी को प्रदर्शन करेगी भाकपा

वहीं मंत्री गुढ़ा ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर सवाल उठाए और कहा कि ‘‘क‍िसी मंत्री पर मुकदमा हो और वह भी राजस्थान के मुख्यमंत्री की जानकारी के बिना, हो ही नहीं सकता क्योंकि गृह विभाग भी उन्हीं के पास है।’’ उन्होंने कहा कि ‘‘मेरी पत्नी ने पहले ही कहा था कि पंगे मत लो?’’ उन्होंने कहा कि ‘‘कम से कम वो (मुख्यमंत्री) इस मुकदमे से पहले मेरी जानकारी तो ले लेते कि यह मामला क्या है ?’’

उन्होंने कहा कि ‘‘एक मंत्री के खिलाफ झूठा मुकदमा दर्ज नहीं होना चाहिए था.. मुझे नहीं पता क्या है.. मैं उनसे मिलकर बात करूंगा.. एक मंत्री के खिलाफ झूठा मुकदमा दर्ज करके क्या साबित करना चाहते हैं।’’ उदयपुरवाटी, झुंझुनूं से विधायक गुढ़ा व अन्य के खिलाफ यह मामला सीकर के नीमकाथाना निवासी दुर्गा सिंह ने बृहस्पतिवार को दर्ज करवाया।

सिंह वार्ड पंच हैं। नीमकाथाना के कार्यवाहक क्षेत्राधिकारी बाबूलाल ने बताया कि नीम का थाना के मोदी बाग निवासी दुर्गा सिंह ने मंत्री राजेन्द्र गुढा, उनके निजी सहायक पी. ए. कृष्ण कुमार तथा विमला कंवर व अन्य के खिलाफ बृहस्पतिवार को भारतीय दंड संहिता की धारा 143,323,347,365,504,506 और 4-6 के तहत मामला दर्ज करवाया है।

उन्होंने बताया कि नीमकाथाना के वार्ड नंबर 31 निवासी शिकायतकर्ता दुर्गा सिंह ककराना पंचायत का वार्ड पंच है। घटना 27 जनवरी की है। उन्होंने बताया कि मामला मंत्री से जुड़ा होने के कारण आगे की कार्रवाई के लिये अपराध अन्वेषण शाखा (सीआईडी-सीबी) को भेज दिया गया है।

उन्होंने बताया कि प्रारंभिक जांच से मामला किसी भूखंड को लेकर पैसे के लेनदेन जुड़ा प्रतीत होता है। उल्लेखनीय है कि गुढ़ा उन छह विधायकों में से एक हैं जिन्होंने 2018 का विधानसभा चुनाव बहुजन समाज पार्टी(बसपा) की टिकट पर जीता था, लेकिन बाद में वे कांग्रेस में शामिल हो गए।

गुढ़ा को बाद में अशोक गहलोत मंत्रिमंडल में शामिल किया गया था। अपने मुखर बयानों के लिए प्राय: चर्चा में रहने वाले गुढ़ा हाल ही में सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की वकालत करते नजर आए हैं।

ये भी पढ़ें - 2025 तक हिमाचल प्रदेश बनेगा हरित ऊर्जा राज्य: CM सुक्खू

Post Comment

Comment List