पीलीभीत: युवक को घर से बुलाकर किया जानलेवा हमला, निजी अस्पताल में इलाज को लेकर हंगामा

पीलीभीत: युवक को घर से बुलाकर किया जानलेवा हमला, निजी अस्पताल में इलाज को लेकर हंगामा

पीलीभीत, अमृत विचार: अभी कुछ घंटे पहले ही एडीजी ने पुलिस को कानून व्यवस्था दुरुस्त रखने का पाठ पढ़ाया। गुंडई करने वालों पर नकेल कसने के निर्देश दिए और कुछ ही घंटों बाद उनके आदेश हवा हो गए। जनपद के अफसर भी सुस्त पड़ गए और मातहत लापरवाह। एक युवक को उसके ही परिचित घर से बुला ले गए और फिर जानलेवा हमला धारदार हथियारों से कर लहूलुहान कर दिया।

पहले घायल के एक निजी अस्पताल पहुंचने पर हंगामा हुआ। उसके बाद जिला अस्पताल ले जाया गया। कोतवाली पुलिस मामले की जांच कर रही है। घटना गुरुवार रात की है।  शहर के झंडे वाला चौराहा के निवासी निशांत शर्मा ने बताया कि वह अपने घर पर थे। एक परिचित ने उन्हें किसी बहाने से घर के बाहर बुलाया।

फिर जब वह गया तो इमली चौराहा के पास का रहने वाले एक युवक और उसके साथी मौजूद थे। कमले चौकी से चंद कदम की दूरी पर अचानक आरोपियों ने गाली गलौज शुरू कर दी। विरोध करने पर हमला करके मारपीट की। धारदार हथियार से वार कर लहूलुहान कर दिया। किसी तरह वह बचकर भागा। इसके बाद लहूलुहान हालत में बेटे को परिजन एक निजी अस्पताल ले गए।

वहां इलाज करने को डॉक्टर ने पुलिस केस बताकर इनकार कर दिया। इसे लेकर काफी नोकझोंक भी हुई। उसके बाद परिजन जिला अस्पताल पहुंचे। वहां भी इलाज से पहले पुलिस केस बताकर टाल दिया गया। दरोगा के कहने पर परिजन कोतवाली पहुंचे और शिकायत की। घटना ने एक बार फिर पुलिस द्वारा किए जा रहे सुरक्षित माहौल की कलाई खोल दी। अब कोतवाली पुलिस जांच में जुट गई है।

ये भी पढ़ें - पीलीभीत-शाहजहांपुर पैसेंजर भोपतपुर स्टेशन के पास क्यों रुक गई और लग गई भीड़, जानिए पूरा मामला 

ताजा समाचार