उत्तर कोरिया के नेता Kim Jong Un ने रूस के रक्षा मंत्री Sergei Shoigu के साथ हथियार सहयोग पर की चर्चा 

उत्तर कोरिया के नेता Kim Jong Un ने रूस के रक्षा मंत्री Sergei Shoigu के साथ हथियार सहयोग पर की चर्चा 

सियोल। उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन ने रूस के रक्षा मंत्री के साथ दोनों देशों की सेनाओं के बीच ‘‘रणनीतिक एवं सामरिक सहयोग’’ को मजबूत करने पर चर्चा की। उत्तर कोरिया की सरकारी मीडिया ने यह जानकारी दी। किम रूस के सुदूर पूर्वी क्षेत्र का दौरा कर रहे हैं, जिसे लेकर पश्चिमी देशों ने चिंता जाहिर की है। विशेषज्ञों का मानना है कि यूक्रेन के खिलाफ रूस के हमले के बीच मॉस्को को उत्तर कोरिया से हथियार मिल सकते हैं, जिससे युद्ध में तेजी आ सकती है। 

‘कोरियन सेंट्रल न्यूज एजेंसी’ ने अपनी एक खबर में कहा कि उत्तर कोरिया के नेता किम और रूस के रक्षा मंत्री सर्गेई शोइगु  (Sergei Shoigu) के बीच इस बातचीत से पहले शुक्रवार को किम को रूस की कुछ सबसे आधुनिक हथियार प्रणालियां दिखाई गईं, जिनका इस्तेमाल यूक्रेन के खिलाफ युद्ध में किया जा रहा है। खबर के मुताबिक, किम को परमाणु हमला करने में सक्षम बम वर्षक विमान, हाइपरसोनिक मिसाइल और रूस के प्रशांत बेड़े में शामिल उन्नत युद्धपोत दिखाए गए। अमेरिका और उसके सहयोगियों की चिंता है कि किम यूक्रेन पर रूस के आक्रमण के बीच मॉस्को को हथियार मुहैया करा सकते हैं और बदले में उत्तर कोरिया को रूस से उन्नत प्रौद्योगिकी मिल सकती है। रूस के प्रिमोर्ये क्षेत्र के गवर्नर ओलेग कोझेमयाको ने कहा कि उनकी रविवार को किम से मुलाकात की योजना है।

 व्लादिवोस्तोक प्रिमोर्ये क्षेत्र में आता है। कोझेमयाको ने संदेश आधारित ऐप पर कहा कि वह किम के साथ रूस और उत्तर कोरिया के स्कूली बच्चों को एक-दूसरे के देश में ग्रीष्मकालीन शिविरों में आने-जाने की सुविधा प्रदान करने के लिए छात्र आदान-प्रदान कार्यक्रम पर चर्चा करेंगे। इसके अलावा, दोनों नेताओं के बीच खेल, पर्यटन और संस्कृति के क्षेत्र में सहयोग पर चर्चा होगी। रूस की मीडिया ने कहा कि किम प्रिमोर्ये में खाद्य उद्योग से जुड़े प्रतिष्ठानों का भी दौरा कर सकते हैं। किम शनिवार को व्लादिवोस्तोक शहर के बाहर स्थित हवाई अड्डे पहुंचे थे, जहां रूस के रक्षा मंत्री शोइगु और अन्य सैन्य अधिकारियों ने उन्हें परमाणु हमला करने में सक्षम बमवर्षक विमान और अन्य युद्धक विमान दिखाए थे। किम को जो युद्धक विमान दिखाए गए, उनमें टीयू-160, टीयू-95 और टीयू-22 शामिल हैं। इन विमानों के जरिये यूक्रेन में लगातार क्रूज मिसाइलें गिराई जा रही हैं। 

रूस के रक्षा मंत्रालय के मुताबिक, शोइगु ने किम को रूस की नवीनतम मिसाइल ‘हाइपरसोनिक किंझल’ भी दिखाई, जिसे मिग-31 लड़ाकू विमान के जरिये दागा जाता है। किम और शोइगु ने बाद में व्लादिवोस्तोक की यात्रा की, जहां उन्होंने रूस के प्रशांत बेड़े में शामिल युद्धपोत ‘एडमिरल शापोशनिकोव’ का निरीक्षण किया। रूस के नौसैन्य कमांडर एडमिरल निकोलाई येवमेनोव ने किम को पोत की क्षमताओं और हथियारों के बारे में जानकारी दी। इनमें लंबी दूरी की क्रूज मिसाइलें शामिल हैं।

रूसी युद्धपोत यूक्रेन पर इन मिसाइलों को नियमित रूप से दाग रहे हैं। किम अपनी बख्तरबंद ट्रेन से मंगलवार को रूस पहुंचे थे। उन्होंने हथियारों और प्रौद्योगिकी से जुड़े कई स्थलों का दौरा किया। रूस और उत्तर कोरिया पर पश्चिमी देशों ने कई प्रतिबंध लगाए हैं तथा उन्हें अलग-थलग कर दिया है। विशेषज्ञों का मनना है कि दोनों देश अमेरिका से बढ़ते तनाव के बीच द्विपक्षीय संबंधों को गहरा कर रहे हैं। 

ये भी पढ़ें : ब्राजील में विमान दुर्घटनाग्रस्त, 14 लोगों की मौत...खराब मौसम की वजह से लैंडिंग स्ट्रिप नहीं देख पाया पायलट

Online Jobs Apply