कैदियों का बोझ झेल रही नैनी सेंट्रल जेल को योगी सरकार ने किया बोझ से मुक्त

नैनी इलाके में कुल 65 एकड़ में ₹173 करोड़ की लागत से तैयार हुई है जिला जेल

कैदियों का बोझ झेल रही नैनी सेंट्रल जेल को योगी सरकार ने किया बोझ से मुक्त

प्रयागराज, अमृत विचार। यूपी में क्षमता से अधिक कैदियों का बोझ झेल रही प्रयागराज की  सेंट्रल जेल नैनी को कैदियों के बोझ से मुक्ति मिलने जा रही है। योगी सरकार द्वारा इसी नैनी इलाके में ₹173 करोड़ की लागत से जिला कारागार का निर्माण कार्य पूरा करा दिया है। इसमें दिसंबर के महीने से बंदियों को शिफ्ट किया जायेगा। इसके बाद पुरानी सेन्ट्रल जेल में बंद बंदियों को काफी राहत मिलेगी। 

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार द्वारा प्रयागराज के नैनी इलाके में तैयार कराई गई जिला जेल उत्तर प्रदेश के सभी जिला जेलों से अधिक बंदियों की क्षमता वाली जेल होगी। इस जिला जेल में 2800 बंदियों को रखने की क्षमता है। जो प्रदेश की किसी भी जिला जेल से अधिक है। इस जिला कारागार  का निर्माण उत्तर प्रदेश राजकीय निर्माण निगम लिमिटेड करा रही है। जेल का निर्माण करा रही संस्था के प्रोजेक्ट मैनेजर आरएस रिजवी के मुताबिक़ इस जेल में ₹173 करोड़ 33 लाख की लागत आई है। यह जिला जेल 65 एकड़ क्षेत्रफल में बनायी गई है। जेल में दो सर्किल , 18 बैरक , 2 क्वारेंटाइन सेल, एक महिला बैरक और एक जुवेनाइल बैरक का निर्माण किया गया है। बैरक को दो मंजिला आकार दिया गया है। इस जिला जेल में दो हाई सिक्योरिटी बैरक भी हैं, जिसमेें 12 बंदियों को रखा जा सकता है।

हाईटेक सुविधाओं से लैस है जिला जेल
प्रयागराज जिला जेल प्रदेश की सबसे हाईटेक सुविधाओं और सुरक्षा वाली जेल होगी। जिला जेल में जल संचयन के लिए रेन वाटर हार्वेस्टिंग बनाया गया है ।  इसके अलावा जेल के अन्दर ही सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट भी बनकर तैयार हो चुका है। जेल का निर्माण करा रही संस्था के प्रोजेक्ट मैनेजर आर एस रिजवी के मुताबिक जेल में महिला बंदियों के बच्चों के लालन-पालन के लिए एक क्रेच भी बनाया गया है। सम्पूर्ण जिला जेल परिसर सर्विलांस सिस्टम और सीसीटीवी की निगरानी में रहेगा। 

सेंट्रल जेल के कैदियों को मिलेगी राहत
सेंट्रल जेल नैनी की क्षमता 2060 कैदियों के रहने की है लेकिन यह जेल बंदियों और कैदियों के बोझ तले दबी हुई है।  वर्तमान में इस जेल में 4596 कैदी व बंदी बंद हैं। निर्धारित क्षमता से अधिक बंदियों और कैदियों की मौजूदगी की वजह से हो रही दिक्कतों को देखते हुए इसके विकल्प के रूप में नई जेल के निर्माण की जरुरत महसूस की जा रही थी। जिसे योगी सरकार ने जिला जेल के निर्माण के साथ पूरा कर दिया है। जिला जेल प्रयागराज में अभी केवल विचाराधीन बंदियों को ही रखा जाएगा। जिनकी सेंट्रल नैनी जेल में संख्या 2870 है। जिला जेल में  दो डिप्टी जेलर, एक बाबू, 26 सिपाही की तैनाती की गयी है।  डीएम द्वारा गठित समिति  ने इसका निरीक्षण भी कुछ दिन पहले किया है। इसके बाद दिसंबर के पहले सप्ताह में यहां बंदियों को शिफ्ट करने की तैयारी चल रही है।

बंदियों को शिफ्ट करने से मिलेगी राहत 
वरिष्ठ जेल अधीक्षक रंग बहादुर पटेल ने कहा कि सेंट्रल जेल में क्षमता से अधिक कैदियों को रखा जा रहा था। जिसके कारण काफी परेशानियाें का सामना बंदियों को करना पड़ता था। अब जिला जेल बनने के बाद बंदियों को जिला जेल में शिफ्ट करने के बाद काफी राहत मिलेगी। जेल बनकर तैयार हो चुकी है। इसी सप्ताह विचाराधीन बंदियों को शिफ्ट किया जाएगा।

ये भी पढ़ें -अयोध्या : अब गुप्तारघाट से राजघाट तक बनेगा लक्ष्मण पथ, कार्ययोजना तैयार

ताजा समाचार

शाहजहांपुर: ससुराल वालों ने चूहे मार दवा देकर किया मारने का प्रयास, चार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज
Lok Sabha Elections-2024: वाराणसी से चुनाव लड़ेंगे पीएम मोदी, बीजेपी ने जारी की उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, देखें नाम...
मुरादाबाद: हर साल 13.5 लाख लोग तंबाकू से होने वाली बीमारियों से गंवाते हैं जान
सीतापुर: पुलिस मुठभेड़ में दो इनामिया बदमाश गोली लगने से घायल, गिरफ्तार  
प्रयागराज: कागज के नोट थमाकर उसली नोट ले भागे टप्पेबाज, जानिए बुजुर्ग कैसे हुआ ठगी का शिकार?  
Farrukhabad: एक बार फिर कोरोना ने दी दस्तक, जिले के युवक की बिगड़ी तबियत...आगरा में जांच कराने पर निकला संक्रमित
Online Jobs Apply