हल्द्वानी: कुमाऊं टेंट हाउस के मालिक हेड़िया तलब

हल्द्वानी: कुमाऊं टेंट हाउस के मालिक हेड़िया तलब

हल्द्वानी, अमृत विचार। कुमाऊं टेंट हाउस के मालिक गिरीश हेड़िया को मुख्य अग्निशमन अधिकारी ने तलब किया है। उनसे न सिर्फ कई सवाल पूछे जाएंगे, बल्कि नोटिस भी थमाया जाएगा। उनको बताना होगा कि घनी आबादी के बीच गोदाम क्यों बनाया और फिर क्यों दमकल विभाग से फायर एनओसी नहीं ली। 

नवाबी रोड में रुद्राक्ष बैंक्वेट हॉल के पीछे रहने वाले कुमाऊं टेंट हाउस के मालिक गिरीश हेड़िया का पशु चिकित्सालय के पास आनंदपुरी फेज वन वार्ड 11 में टेंट हाउस का गोदाम है। 12 नवंबर को दीपावली की रात गोदाम धधक उठा और 3 मजदूरों की जिंदा जलकर मौत हो गई। इस मामले में बड़ी लापरवाही उजागर होने के बाद भी अब तक प्रशासन जांच के नाम पर सिर्फ मामले को टरकाता नजर आ रहा है। 

मामले में दमकल विभाग की जांच भी जारी है और विभाग टेंट संचालक की लापरवाही मान चुका है। अब इस मामले में मुख्य अग्निशमन अधिकारी गौरव किरार ने गिरीश हेड़िया को अपने दफ्तर में तलब किया है। बकौल किरार हेड़िया से सवाल तो किए ही जाएंगे, उनको लापरवाही बरतने पर नोटिस दिया जाएगा। उनसे पूछा जाएगा कि उन्होंने गोदाम में आग से बचाव के इंतजाम क्यों नहीं किए और क्यों फायर एनओसी नहीं ली। 


गोदाम में लगी आग की घटना को लेकर हमारी जांच जारी है। फिलहाल तो सामने आया है कि गोदाम में आग से बचाव के इंतजाम नहीं किए गए थे और न फायर एनओसी ली गई थी। गोदाम मालिक को दमकल के दफ्तर बुलाया गया है। उन्हें दफ्तर में ही नोटिस दिया जाएगा, जिसकी एक कॉपी प्रशासन को भी सौंपी जाएगी। 
- गौरव किरार, मुख्य अग्निशमन अधिकारी


दरी, कंबल का बीमा कराया, दिहाड़ी में गई मजदूरों की जान
हल्द्वानी : गिरीश चंद्र हेड़िया के टेंट हाउस गोदाम में तीन मजदूर जिंदा जले। घनी आबादी के बीच गोदाम में ऐसी घटना दोबारा नहीं होगी और फिर किसी की जान नहीं जाएगी, इसकी गारंटी कोई नहीं दे सकता। गनीमत सिर्फ इतनी थी कि आग ने 4 फीट की गली नहीं लांघी। बहरहाल गोदाम में रखे दरी, कंबल, रजाई, गद्दा आदि का तो बीमा कराया जाना पता चला है लेकिन मजदूरों की जान सलामती के कोई इंतजाम नहीं किए गए थे। इन मजदूरों की जान 400 रुपये की दिहाड़ी में चली गई।

FOOTER:
Online Jobs Apply