AUS vs SA: ऑस्ट्रेलिया तीन विकेट से जीता, अब टीम इंडिया से होगा मुकाबला

AUS vs SA: ऑस्ट्रेलिया तीन विकेट से जीता, अब टीम इंडिया से होगा मुकाबला

कोलकाता। पांच बार के चैम्पियन आस्ट्रेलिया ने गुरूवार को यहां दूसरे सेमीफाइनल में दक्षिण अफ्रीका को तीन विकेट से हराकर अपने आठवें विश्व कप फाइनल में प्रवेश किया जिसमें 19 नवंबर को अहमदाबाद में उसका सामना मेजबान भारत से होगा। टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी दक्षिण अफ्रीकी टीम डेविड मिलर की दबाव भरी परिस्थितियों में खेली गयी 101 रन शतकीय पारी के बावजूद 49.4 ओवर में 212 रन पर सिमट गयी।

आस्ट्रेलिया ने 47.2 ओवर में सात विकेट के नुकसान पर 215 रन बनाकर जीत हासिल की जिसमें शुरू में ट्रेविस हेड की 48 गेंद में 62 रन की अर्धशतकीय पारी ने अहम योगदान दिया। दक्षिण अफ्रीका के स्पिनर तबरेज शम्सी (42 रन देकर दो विकेट), केशव महाराज (24 रन देकर एक विकेट) और ऐडन मार्कराम (23 रन देकर एक विकेट) ने शानदार गेंदबाजी कर आस्ट्रेलिया को आसानी से जीत हासिल नहीं करने दी। शम्सी ने मार्नस लाबुशेन (18 रन) और ग्लेन मैक्सवेल (01) के महत्वपूर्ण विकेट झटके।

हालांकि हेड और डेविड वार्नर (18 गेंद में 29 रन) ने पावरप्ले में तेज शुरूआत की। दोनों ने दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाजों के खिलाफ तेजी से रन जुटाये जिससे दोनों ने पहले विकेट के लिए 38 गेंद में 60 रन की साझेदारी निभायी। वार्नर के आउट होने के बाद मिचेल मार्श छह गेंद ही खेल पाये थे कि कागिसो रबाडा का शिकार होकर खाता भी नहीं खोल सके। हेड के साथ स्टीव स्मिथ (30 रन) ने तीसरे विकेट के लिए 39 गेंद में 45 रन की साझेदारी की।

स्मिथ के आउट होने के बाद जोश इंगलिस ने 49 गेंद में 28 रन का योगदान दिया। आस्ट्रेलियाई कप्तान पैट कमिंस (नाबाद 14 रन) और मिचेल स्टार्क (नाबाद 16 रन) ने फिर टीम को लक्ष्य तक पहुंचाया।

दक्षिण अफ्रीका फिर ‘चोकर्स’ (दबाव में घुटने टेकने वाले) का ठप्पा हटाने में नाकाम रही और उसके शीर्ष क्रम के चार बल्लेबाज क्विंटन डिकॉक (03), तेम्बा बावुमा (शून्य), रासी वान डर डुसेन (06) और ऐडन मार्कराम (10) 12 ओवर में पवेलियन पहुंच गये थे जिससे उसका स्कोर चार विकेट पर 24 रन था।

मिचेल स्टार्क (10-1-34-3) और जोश हेजलवुड (8-3-12-2) ने परिस्थितियों का पूरा फायदा उठाकर शुरूआती विकेट झटके। फिर बारिश की बाधा के कारण 40 मिनट के ब्रेक हुआ, तब दक्षिण अफ्रीका का स्कोर 14 ओवर में चार विकेट पर 44 रन था। पर इसके बाद मिलर ने 116 गेंद में आठ चौके और पांच छक्के से छठा वनडे शतक जड़ दिया।

यह दक्षिण अफ्रीका का विश्व कप नॉकआउट मैच में पहला शतक भी था। टर्निंग पिच पर मिलर को कोई परेशानी नहीं हुई और वह एडम जम्पा की गेंदों पर हावी दिख रहे थे जिससे इस आस्ट्रेलियाई गेंदबाज ने अपने सात ओवर में 55 रन लुटा दिये। पैट कमिंस पर स्कायर लेग पर 94 मीटर का छक्का जड़कर मिलर ने अपना सैकड़ा पूरा किया।

मिलर की हेनरिच क्लासेन (47 रन) के साथ पांचवें विकेट के लिए 95 रन की साझेदारी से दक्षिण अफ्रीका को थोड़ी राहत मिली लेकिन फिर कामचलाऊ ऑफ स्पिनर ट्रेविस हेडन ने दो गेंद में दो विकेट झटककर उसकी उम्मीदों को करारा झटका दिया। क्लासेन के बाद जेराल्ड कोएत्जी (19) ने मिलर का साथ दिया जिससे दोनों ने सातवें विकेट के लिए 53 रन की भागीदारी निभायी।

लेकिन कमिंस की गेंद पर कोएत्जी विकेटकीपर जोश इंगलिस को कैच थमा बैठे। हालांकि रिप्ले में दिख रहा था कि गेंद उनकी कोहनी पर लगी थी लेकिन उन्होंने रिव्यू नहीं लिया। फिर मिलर भी 48वें ओवर में आउट हो गये। दक्षिण अफ्रीका ने दो मैच लक्ष्य का पीछा करते हुए गंवाये थे जिससे कप्तान तेम्बा बावुमा ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने का फैसला किया।

आस्ट्रेलिया के लिए नयी गेंद से गेंदबाजी करने वाले मिचेल स्टार्क और जोश हेजलवुड ने बेहतरीन गेंदबाजी करते हुए पावरप्ले में दक्षिण अफ्रीका के 17 रन पर दो विकेट झटक लिये। पिच पर स्विंग और उछाल मिल रहा था जिससे दक्षिण अफ्रीका के सलामी बल्लेबाज स्टार्क और हेजलवुड की गेंदों से सतर्क होकर खेल रहे थे जिससे उन्होंने पहले 10 ओवर में 50 ‘डॉट’ गेंद खेलीं।

दोनों गेंदबाजों ने अपना पहला स्पैल खत्म किया और मिलकर 13 ओवर डाले जिसके बाद दक्षिण अफ्रीका ने ‘चोक’ होना शुरू कर दिया जिससे स्कोर चार विकेट पर 24 रन हो गया। तब स्टार्क ने सात ओवर में एक मेडन से 18 रन देकर दो विकेट और हेजलवुड ने छह ओवर में एक मेडन से 12 रन देकर दो विकेट झटक लिये थे।

आस्ट्रेलिया ने गेंदबाजी ही नहीं बल्कि क्षेत्ररक्षण में भी कमाल दिखाया जिसमें मार्नस लाबुशेन और डेविड वार्नर ने रिंग के अंदर कम से कम 15-20 रन बचाये। बावुमा पूरी तरह फिट नहीं थे लेकिन वह खेलने उतरे और शून्य पर आउट हो गये। इसके बाद ईडन गार्डन्स के दर्शकों को डिकॉक (03) से उम्मीद लगी थीं लेकिन वह स्कोरबोर्ड के दबाव में आ गये।

पैट कमिंस ने पीछे की ओर भागते हुए उनका शानदार कैच लपका। फॉर्म में चल रहे एक अन्य बल्लेबाज ऐडन मार्कराम भी 20 गेंद में 10 रन बनाकर आउट हो गये। रासी वान डर डुसेन ने 31 गेंद खेली लेकिन छह रन ही बना सके और हेजलवुड का शिकार बने। अब क्लासेन और मिलर क्रीज पर थे। क्लासेन ने कमिंस का स्वागत कवर ड्राइव शॉट से किया जिसके बाद बारिश के कारण 40 मिनट तक खेल रोकना पड़ा।

ये भी पढे़ं- बरेली में पहली बार 19 अक्टूबर को होगा विशाल श्री खाटू श्याम भजन संध्या का आयोजन

Online Jobs Apply