बरेली: एबीसी की डुप्लीकेट आईडी बनने से फार्म नहीं भर पाए छात्र

बरेली: एबीसी की डुप्लीकेट आईडी बनने से फार्म नहीं भर पाए छात्र

बरेली, अमृत विचार। स्नातक के छात्रों को विषम सेमेस्टर के परीक्षा फार्म भरने में लगातार दिक्कत हो रही है। विषय परिवर्तन के साथ अब एबीसी आईडी डुप्लीकेट बनने से छात्र फार्म नहीं भर पाए। शनिवार को बड़ी संख्या में छात्र एमजेपी रुहेलखंड विश्वविद्यालय पहुंचे।

छात्र अपनी समस्या लेकर एक कक्ष से दूसरे कक्ष में घूमते रहे। दोपहर बाद डुप्लीकेट आईडी का आप्शन हटाकर समस्या का समाधान किया गया। वहीं बरेली कॉलेज में भी छात्र फार्म भरने में आ रही समस्या को लेकर परेशान होते रहे।

सोमवार को परीक्षा फार्म भरने की अंतिम तिथि है। ऐसे में छात्रों की समस्या को देखते हुए फार्म भरने की तिथि बढ़ाने पर विश्वविद्यालय प्रशासन विचार कर रहा है। नई शिक्षा नीति के तहत स्नातक प्रथम सेमेस्टर में प्रवेश लेने वाले छात्रों की एबीसी आईडी बनती है।

यह आईडी छात्र एबीसी के पोर्टल, डिजिलॉकर, उमंग व अन्य जगह से स्वयं बना सकते हैं। एक बार आईडी बनाने के बाद यह आगे तक मान्य रहती है। इसी में छात्र के क्रेडिट्स जुड़ जाते हैं। इस आईडी के आधार पर ही देश के किसी भी विश्वविद्यालय या कॉलेज में प्रवेश लेने पर छात्र की पूरी जानकारी मिल जाती है।

एमजेपी रुहेलखंड विश्वविद्यालय के अब तक करीब 2.50 लाख छात्रों की एबीसी आईडी बन चुकी है। 6 नवंबर से स्नातक प्रथम, तृतीय और पंचम सेमेस्टर के छात्र परीक्षा फार्म भर रहे हैं। फार्म भरने के दौरान एबीसी आईडी जरूरी है। जिन छात्रों की नहीं बनी है, उन्हें फार्म के सबसे ऊपरी हिस्से पर इसे भरने के बारे में जानकारी दी जा रही है।

कई छात्र ऐसे हैं, जिन्होंने प्रथम सेमेस्टर में किसी दूसरे कॉलेज में प्रवेश लिया था या किसी छात्र ने अपने विषय बदल दिए। अब जब छात्र परीक्षा फार्म भर रहे थे तो उनकी डुप्लीकेट आईडी आने से दिक्कत हो रही थी। शनिवार को बड़ी संख्या में छात्र परीक्षा नियंत्रक कार्यालय, एजेंसी के ऑफिस में पहुंचे। शुरुआत में तो समस्या समझ में नहीं आई तो छात्र इधर से उधर भटकते रहे। इसके बाद दिल्ली से संपर्क भी किया गया।

हालांकि दोपहर बाद फार्म भरने में डुप्लीकेट आईडी का ऑप्शन हटाकर समस्या का समाधान किया गया। वहीं दूसरी तरफ शनिवार को भी विषय बदलने की समस्या लेकर छात्र पहुंचे लेकिन उनकी समस्या का समाधान नहीं हो सका। छात्रों को सोमवार को बुलाया गया है। वहीं बरेली कॉलेज में छात्र नेता रवि पंडित के नेतृत्व में काफी संख्या में छात्र सेमिनार कक्ष में पहुंचे लेकिन यहां पर विषय परिवर्तन की समस्या का समाधान नहीं हो सका। छात्रों को विश्वविद्यालय जाने की सलाह दी गई।

ये भी पढे़ं- बरेली: विषय नहीं बदलने से परीक्षा फार्म भरने में आ रहीं दिक्कतें

Online Jobs Apply