भोजीपुरा अग्निकांड: कार की लपटों में चीखते रह गए लोग, बचाने कोई आगे नहीं आया

भोजीपुरा अग्निकांड: कार की लपटों में चीखते रह गए लोग, बचाने कोई आगे नहीं आया

बरेली/भोजीपुरा, अमृत विचार। बरेली-नैनीताल हाईवे पर शनिवार की देर रात दिल दहलाने वाला भीषण हादसा हुआ। हादसे ने हर किसी को झकझोर दिया। डंपर से टकराने के बाद कार में ऐसी आग लगी कि एकाएक पूरी कार धू-धूकर जलती रही। हादसे के बाद कार लॉक हो गयी। एक भी दरवाजा नहीं खुल सका।

जलती कार में फंसे लोग मदद के लिए चीखते-चिल्लाते रहे, लेकिन आग की लपटों की वजह से वहां से गुजर रहे लोगों और वाहन चालक बेबस नजर आए। कार में जल रहे लोगों की चीखें सुनकर वहां मौजूद लोगों की रूह कांप गई। दमकल और पुलिस भी जब तक मौके पर पहुंची तब तक कार सवार लोग कंकाल में बदल चुके थे। एसपी अपराध मुकेश प्रताप सिंह और नवाबगंज सीओ चमन सिंह मौके पर पहुंचे।

पुलिस के अनुसार बहेड़ी के जाम गांव से उवैस की बरात बरेली शहर के पीलीभीत रोड के फहम लॉन में आई थी। बरात में शामिल होने के लिए नारायण नगला निवासी फुरकान बहेड़ी के ही सुमित की कार को मांग कर ले गया था। सूचना पर मौके पर भोजीपुरा पुलिस पहुंची और दमकल विभाग को सूचना दी। सूचना पर जब तक आग बुझाने के लिए फायर ब्रिगेड की गाड़ियां पहुंची तब तक कार में सवार सभी लोग जलकर राख हो गए। वहीं डंपर का चालक शीशा तोड़कर मौके से फरार हो गया था।

फॉरेंसिक टीम ने जुटाए साक्ष्य
सूचना के बाद फॉरेंसिक टीम भी मौके पर पहुंच गई। टीम ने कार का निरीक्षण किया और तथ्य जुटाये। इंस्पेक्टर भोजीपुरा ने बताया कि कार में आठ लोग सवार थे।

चीखें सुनकर बेबस थे साहब
घटना के प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि हादसे के बाद कार और डंपर में आग लग गई। आग इतनी भयंकर थी कि वे लोग चाह कर भी कुछ नहीं कर सके। कार में आठ लोग उनके सामने जल रहे थे और बचाने की गुहार लगा रहे थे, लेकिन आसपास न तो पानी था और न ही आग बुझाने का कोई यंत्र जिससे वे लोग आग पर काबू पा सके। भोजीपुरा निवासी विजय ने बताया कि वे एक अस्पताल से ड्यूटी करे वापस जा रहे थे। हादसा होने के बाद वे वहां पर मूकदर्शक बनकर देखते रहे, चाहकर भी कुछ मदद नहीं कर सके।

आठ दिन पहले हुई थी आरिफ की शादी
कार हादसे में जलकर आठ लोगों की मौत हो गई। इनमें तीन लोगों की पहचान हो गई है। जिन लोगों की पहचान हुई है। उनमें फुरकान, आरिफ और आसिफ हैं। बताया जाता है कि आरिफ की आठ दिन पहले शादी हुई थी। आरिफ की पत्नी के हॉथों की मेंहदी भी अभी नहीं छूटी थी कि सुहाग उजड़ गया। देर रात तक मृतकों के परिजन घटना स्थल पर पहुंचते रहे।

हादसे ने दिला दी बस हादसे की याद
कार और डंपर के बीच टक्कर के बाद दोनों वाहनों में आग लग गई। हादसे में आठ लोग की मौके पर ही जलकर मौत हो गई। इस हादसे ने 4 जून 2017 में इन्वर्टिस विश्वविद्यालय के पास हुए बस हादसे की याद दिला दी। उस वक्त बस में आग लगने से 25 लोगों की जलकर मौत हो गई थी। उस वक्त भी बस में जले हुए कंकाल पड़े हुए थे। लोगों की शिनाख्त डीएनए के माध्यम से की गई थी।

ये भी पढे़ं- बरेली: भोजीपुरा में टक्कर के बाद डंपर और कार में लगी आग, सात बराती जिंदा जले

 

Online Jobs Apply