काशीपुर: बैंक लोन निपटाने के नाम पर सीड्स संचालक से डेढ़ करोड़ की ठगी

काशीपुर: बैंक लोन निपटाने के नाम पर सीड्स संचालक से डेढ़ करोड़ की ठगी

काशीपुर, अमृत विचार। करीब दस करोड़ के लोन का सेटलमेंट कराने का झांसा देकर दिल्ली की एक महिला व उसके साथी ने काशीपुर के सीड्स प्लांट स्वामी से डेढ़ करोड़ की रकम ठग ली। रकम वापस मांगने पर महिला ने उसे झूठे केस में फंसाने और जान से मरवाने की धमकी दी। तहरीर पर पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

 पुलिस को दी तहरीर में गिरीताल कालोनी निवासी संजीव अरोरा ने कहा है कि उसके भाई सुरेंद्र अरोरा का प्रयाग सीडस, आनंद एग्रो व दयाल सीड्स के नाम से प्लांट हैं। लोन की रिकवरी को लेकर उनकी फर्म का एक बैंक के साथ वित्तीय मतभेद है। बीते दिनों दिल्ली निवासी राकेश थापर व अनुकंपा भट्ट उनसे मिले।

बताया कि उनकी फर्म ए टू जेड वित्तीय मतभेदों का निपटारा कराती है। समझौता होने से उन्हें काफी रुपयों की बचत हो सकती है। उनके प्रस्ताव पर विश्वास कर वह अपने परिचित अनिल कुमार डाबर व मनीष श्रीवास्तव को लेकर राकेश थापर के ऑफिस लाजपत नगर दिल्ली गया। जहां 9. 88 करोड़ के लोन का निपटारा 6.50 करोड़ रुपये में कराने की बात कही। इसमें से 4.19 करोड़ रुपये पीएनबी में और शेष 2.31 करोड़ रुपये कंसल्टेंसी की फीस तय की।

आरोपियों ने उनसे करीब डेढ़ करोड़ रुपये की राशि ठग ली। शक होने पर उन्होंने बैंक में पड़ताल की तो इन दोनों की ओर से उपलब्ध कराए गए सेटलमेंट संबंधी सभी प्रपत्र फर्जी पाए गए। दोनों ने जालसाजी कर उनसे करीब डेढ़ करोड़ रुपये की रकम ठग ली। आरोप है कि रुपये वापस मांगने पर अनुकम्पा भटट ने आवेश में आकर अभद्रता की और धमकाते हुए उन्हें छेड़छाड़ के झूठे मुकदमें में फसाने की धमकी दी। तहरीर पर पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। 

Online Jobs Apply