Kanpur: बुखार उतर तो रहा पर नहीं जा रही खांसी...मौसम में बदलाव से हैलट अस्पताल में मरीजों की भीड़, इस तरह के आ रहे केस

कानपुर में मौसम में बदलाव को लेकर मरीजों की भीड़ लगी

Kanpur: बुखार उतर तो रहा पर नहीं जा रही खांसी...मौसम में बदलाव से हैलट अस्पताल में मरीजों की भीड़, इस तरह के आ रहे केस

कानपुर, अमृत विचार। मौसम में हो रहे बदलाव के कारण लोग गले में संक्रमण और वायरल बुखार की चपेट में आ रहे हैं। मरीजों का बुखार सप्ताह भर बाद उतर तो जा रहा है, लेकिन कमजोरी बनी हुई है। बुखार ठीक होने के बाद भी खांसी मरीजों का पीछा नहीं छोड़ रही है। 

हैलट अस्पताल के मेडिसिन विभाग की ओपीडी में सोमवार को 500 से अधिक मरीज इलाज कराने को पहुंचे। इनमें से करीब 180 मरीज गले में खराश, चुभन, दर्द, खाना खाने में गले में दर्द होना, बुखार, खांसी, जुकाम, सीने में दर्द, जकड़न, नाक बंद होना की समस्या से ग्रस्त रहे। 

सांस लेने में दिक्कत के करीब 20 मरीज पहुंचे। पुराने 90 मरीजों में से 30 मरीज ऐसे पहुंचे, जिनका बुखार तो ठीक हो गया लेकिन 10 से 15 बीतने पर भी खांसी नहीं जा रही है। ऐसे में डॉक्टर मरीजों को जांच और डिजिटल एक्सरे कराने की सलाह दे रहे हैं। 

मेडिसिन विभाग के प्रो. जेएस कुशवाहा ने बताया कि मौसम में बदलाव की वजह से वायरल संक्रमण हावी है। बुखार ठीक होने के बाद खांसी बनी रहने की समस्या कई मरीजों में देखी जा रही है।  

ब्रेन हेमरेज के आठ मरीज हुए भर्ती  

मौसम में हो रहे बदलाव के कारण सिर में तेज दर्द, चक्कर व बेहोशी के भी मरीज हैलट ओपीडी से लेकर इमरजेंसी तक में इलाज के लिए आ रहे हैं। इमरजेंसी में सोमवार को ब्रेन हेमरेज के आठ मरीजों को भर्ती करना पड़ा। सांस लेने में दिक्कत और शरीर व मस्तिष्क में ऑक्सीजन की कमी होने के कारण मरीजों को ब्रेन हेमरेज की समस्या हो रही है। 

डॉ.जेएस कुशवाहा ने बताया कि अचानक से सिर में गंभीर दर्द, निगलने में कठिनाई, शरीर का संतुलन या समन्वय न बन पाना, भ्रम या चीजों को समझने में कठिनाई, सुस्ती या बेहोशी आदि होने पर सतर्क रहने की जरूरत है। यह सभी लक्षण ब्रेन हेमरेज के हैं।


(केस-1)

बुखार, खांसी से परेशान 

नमक फैक्ट्री निवासी मोना ने बताया कि गले में दर्द होने के बाद बुखार आया और उसके बाद खांसी आने लगी। दवा से बुखार व गले में दर्द तो ठीक हो गया, लेकिन खांसी की समस्या बनी हुई है। इस कारण सिर में दर्द भी होने लग रहा है। 

(केस-2)

बार-बार चढ़ रहा बुखार

कल्याणपुर आवास-विकास निवासी अमित सिंह ने बताया कि पहले जुकाम हुआ फिर उसके बाद बुखार आया। दवा खाने के बाद बुखार उतर तो जा रहा है, लेकिन कुछ घंटों बाद फिर से बुखार चढ़ रहा है। गले में दर्द है और खांसी भी नहीं जा रही है। 

ये भी पढ़ें- Kanpur News: कंकालों में लिखे मिले मेडिकल लिट्रेचर के शब्द...पोस्टमार्टम होने के बाद पुलिस भी हाथ खाली

 

ताजा समाचार