बरेली: स्टाफ नर्स प्रसव पीड़ा से घंटों तड़पी, नहीं आईं डॉक्टर साहिबा, EMO ने कराई सकुशल डिलीवरी

बरेली: स्टाफ नर्स प्रसव पीड़ा से घंटों तड़पी, नहीं आईं डॉक्टर साहिबा, EMO ने कराई सकुशल डिलीवरी

मरीज की हालत गंभीर देखते हुए इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर (EMO) ने अपनी देखरेख में स्टाफ नर्स की डिलीवरी कराई।

बरेली, अमृत विचार। जिला महिला अस्पताल में किस प्रकार आम मरीजों को बेहतर इलाज मिल रहा होगा इसका अंदाजा इस बात से ही लगाया जा सकता है कि यहां इसी अस्पताल में तैनात स्टाफ नर्स बीती रात चार घंटे दर्द में तड़पती रही। इसके बाद भी डॉक्टर नहीं आईं।

सोमवार रात करीब 11:30 बजे प्रसव पीड़ा होने पर स्टाफ नर्स नेहा अस्पताल में भर्ती हुए थीं। हालत गंभीर होने पर स्टाफ ने ड्यूटी पर तैनात सर्जन डॉक्टर को सूचना दी। बावजूद इसके रात 3:00 बजे तक भी डॉक्टर नहीं आईं।

मरीज की हालत गंभीर देखते हुए इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर (EMO) ने अपनी देखरेख में स्टाफ नर्स की डिलीवरी कराई। हालांकि, अब जच्चा-बच्चा दोनों स्वस्थ हैं। लेकिन, इस घटना से यह साफ हो गया कि जिला अस्पताल में कर्मचारी अपनी मर्जी से काम कर रहे हैं। जिससे मरीजों को काफी परेशनी होती है।

कुछ दिन पहले ही शहर विधायक और वन मंत्री ने जिला अस्पताल में दौरा करने के दौरान साफ निर्देश दिए थे कि मरीजों का इलाज सही तरिके से किया जाए। इसके बाद भी इतनी बड़ी लापरवाही कई सवाल खड़े करती है।

ये भी पढ़ें : बरेली: जिला अस्पताल से ईएमओ की स्कूटी चोरी, डॉक्टर की रात में लगी थी ड्यूटी

Post Comment

Comment List